Top

बसपा- सपा गठबंधन को ’ढकोसला बताना बीजेपी की बौखलाहट: मायावती

बीएसपी की राष्ट्रीय अध्यक्ष और यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने कहा कि अगर बीजेपी बीएसपी-सपा गठबन्धन से भयभीत नहीं है तो इनका शीर्ष नेतृत्व इस गठबन्धन के संबंध में ‘खिसीयानी बिल्ली खम्भा नोचे‘ की तरह क्यों व्यवहार कर रहा है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 6 Feb 2019 2:46 PM GMT

बसपा- सपा गठबंधन को ’ढकोसला बताना बीजेपी की बौखलाहट: मायावती
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्लीः बीएसपी की राष्ट्रीय अध्यक्ष और यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने कहा कि अगर बीजेपी बीएसपी-सपा गठबन्धन से भयभीत नहीं है तो इनका शीर्ष नेतृत्व इस गठबन्धन के संबंध में ‘खिसीयानी बिल्ली खम्भा नोचे‘ की तरह क्यों व्यवहार कर रहा है। अमित शाह द्वारा बीएसपी व सपा गठबंधन को ’ढकोसला’ बताते हुए बार-बार बेलगाम होकर कोसते रहते हैं, जिससे सर्वसमाज से जुड़े इस गठबंधन के लोग और भी ज्यादा जिद के साथ काम करने लगते हैं और इससे फिर बीजेपी की बौखलाहट स्वभाविक तौर पर और भी ज्यादा बढ़ जाती है।

ये भी पढ़ें...मायावती न नेता जी की और न मेरी बहन, फिर कैसे बनीं अखिलेश की बुआ?: शिवपाल

वास्तव में बीजेपी को अब पूरी तरह से लग गया है कि बीएसपी-सपा गठबन्धन के कारण उत्तर प्रदेश में वह बुरी तरह से हारने वाली है और फिर केन्द्र की सत्ता भी इनके हाथ से निकलेगी और इसी बौखलाहट में वे लोग साम, दाम, दण्ड, भेद आदि अनेकों हथकण्डे अपनाकर इस गठबन्धन को बदनाम करने की कोशिश कर रहे है तथा अपने तथाकथित विकास के एजेण्डे को पूरी तरह से भुलाकर व अपनी चुनावी वादाखिलाफी एवं विश्वासघात पर से लोगों का ध्यान बांटने के लिए हमारे गठबन्धन को ही कोसते रहने का काम कर रहे हैं और साथ ही हर प्रकार के हथकण्डे अपनाकर विरोधी पार्टियों व इनके नेताओं को उलझाने व जनता में उन्हें बदनाम करने की साजिश करने में लगे हैं, जो अति-निन्दनीय व दुर्भाग्यपूर्ण है।

ये भी पढ़ें...स्मारक घोटाले में मायावती पर शिकंजा, करीबियों के ठिकानों पर ED का छापा

लेकिन वैसे भी अब इनकी कोई भी साजिश व हथकण्डा सफल होने वाला नहीं है क्योंकि बीजेपी की जनविरोधी नीतियों व गलत एवं अहंकारी कार्यकलापों से देश की आमजनता बहुत ही ज्यादा दुःखी है और इनसे मुक्ति चाहती है, जो देशहित व लोकतन्त्र के हित में बहुत जरुरी हो गया है। इतना ही नहीं बल्कि सभी को पता है कि बीजेपी व इनकी केन्द्र व राज्य सरकारों में से खासकर उत्तर प्रदेश सरकार ने जिस प्रकार से जातिवाद, राजनीतिक द्वेष, धार्मिक उन्माद व साम्प्रदायिकता को हर प्रकार से सरकारी संरक्षण व बढ़ावा दिया है उससे आज सारा देश त्रस्त व चिन्तित है।

अयोध्या में राम मंदिर मुद्दे पर बीजेपी के जवाब में उन्होंने कहा कि मन्दिर निर्माण कोई मुद्दा नही है बल्कि असली मुद्दा यह है कि देश संविधान व उसकी मंशा के मुताबिक सही कानून-व्यवस्था से चलेगा या फिर बीजेपी व आर.एस.एस. एण्ड कम्पनी के धार्मिक उन्माद व संकीर्ण सोच के आाधार पर चलेगा। वास्तव में बीजेपी एण्ड कम्पनी द्वारा अपने आपको संविधान तथा कोर्ट व कानून से ऊपर मानकर चलने की कोशिश के कारण ही आज देश को अनेकों प्रकार के अभूतपूर्व संकट के दौर से गुजरना पड़ रहा है और जिस कारण देश की लगभग सवासौ करोड़ आमजनता बेवजह ही इनकी चक्की में पिस रही है।

ये भी पढ़ें...एमपी में बीजेपी सरकार जाने से लोगों में राहत लेकिन जुल्म-ज्यादती जारी: मायावती

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story