Top

योगी सरकार में पुलिस अधिकारी तक पीटे जा रहे, ये चिंता का विषय

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 20 May 2017 2:41 PM GMT

योगी सरकार में पुलिस अधिकारी तक पीटे जा रहे, ये चिंता का विषय
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : बसपा सुप्रीमो मायावती ने शनिवार को कहा कि प्रदेश की योगी सरकार में कानून का नहीं, आपराधिक तत्वों का राज है। यह सरकार आमजनता को शांति, सद्भाव व सुरक्षित जीवन देने में विफल साबित हो रही है।

मायावती ने बयान में कहा, सत्ता परिवर्तन का सही लाभ प्रदेश की आमजनता को नहीं मिल रहा है, क्योंकि प्रदेश में किसी भी प्रकार के अपराध में कोई कमी नहीं आई है, बल्कि इसके विपरीत जातिवादी हिंसा व राजनीतिक विद्वेष की घटनाएं बढ़ गई हैं।

ये भी देखें : मथुरा: दो दिनों में डायरिया से 9 बच्चों सहित 10 की मौत, प्रभावित गावों में पहुंचे डॉक्टर

उन्होंने कहा कि भाजपा का बेस वोट बैंक व्यापारी वर्ग के लोगों की दिन-दहाड़े लूट व हत्याओं से प्रदेश दहल गया है, जिसके विरोध में व्यापारी वर्ग 'बंद' का भी आयोजन कर रहे हैं। सहारनपुर व मथुरा सहित कई घटनाओं ने योगी सरकार के दावों की धज्जियां उड़ा दी हैं।

बसपा प्रमुख ने कहा, "बिजली आपूर्ति की समस्या को लेकर आए दिन हिंसा व पुलिस लाठीचार्ज की घटनाएं आम होती जा रही हैं। इसके बावजूद सरकार विधानसभा में कहती है कि अपराधी जिस भाषा में समझेंगे, उसी भाषा में समझाएंगे। इससे क्या स्पष्ट नहीं है कि भाजपा सरकार को पता ही नहीं है कि अपराधियों को समझाने के लिए केवल एक ही सरकारी भाषा की जरूरत होती है और वह होती है 'कानून की भाषा'।

उन्होंने कहा कि इसके लिए आश्वासनों व भाषणों की नहीं, बल्कि दृढ़ इच्छाशक्ति की जरूरत होती है। यह सरकार अब तक दृढ़ इच्छाशक्ति नहीं दिखा पा रही है।

मायावती ने कहा, "योगी सरकार में पुलिस अधिकारी तक पीटे जा रहे हैं। यह प्रदेश में 'परिवर्तन' लाने का वायदा करने वाली भाजपा सरकार के लिए चिंता की बात है। प्रदेश में जो सांप्रदायिक, जातिवादी व अन्य आपराधिक घटनाएं हो रही हैं, उनमें से ज्यादातर भाजपा एंड कंपनी का ही षड्यंत्र नजर आता है।"

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story