Top

बसपा MLA मुख्तार अंसारी की हालत में सुधार, बीवी को मिली छुट्टी

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 10 Jan 2018 3:30 PM GMT

बसपा MLA मुख्तार अंसारी की हालत में सुधार, बीवी को मिली छुट्टी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : मऊ से बसपा के बाहुबली विधायक मुख़्तार अंसारी की तबियत में तेजी से सुधार हो रहा है। बाँदा जेल में बंद मुख्तार अंसारी को दिल का दौरा पड़ने के बाद एसजीपीजीआई लखनऊ में भर्ती कराया गया था। जहां उनकी एंजियोग्राफी भी की गई। फिलहाल एंजियोग्राफी में कोई ब्लॉकेज नहीं मिला है। एंजियोग्राफी के बाद मुख़्तार अंसारी को आईसीयू से निकाल कर प्राइवेट वार्ड में भर्ती कराया गया है।

ये भी देखें : मुख्तार अंसारी के बेटे ने जताई साजिश की आशंका, इलाज जारी

बांदा जेल में बंद मुख्तार अंसारी को दिल का दौरा पड़ने पर भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच एसजीपीजीआई में भर्ती कराया गया था। अंसारी का इलाज कर रहे डॉ. पीके गोयल ने बताया कि फिलहाल उनकी हालत सामान्य है, और उन्हें प्राइवेट वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है।

मुख्तार अंसारी को क्या बीमारी थी और एंजियोग्राफ्री में क्या निकला है इस बात का जवाब देने को कोई भी तैयार नहीं है। बसपा विधायक अंसारी भाजपा विधायक की हत्या मामले में बांदा जिला जेल में बंद है। जहाँ उन्हें दिल का दौरा पड़ा था।

जेल अफसरों का कहना है कि इस दौरान उनसे मुलाकात करने आई उनकी बीवी को भी दिल का दौरा आ गया था। जिस के बाद विधायक के साथ उनकी पत्नी को गंभीर हालत में जिला अस्पताल भर्ती कराया गया। इसके बाद दोनों को एसजीपीजीआई लखनऊ रेफर किया गया था। मुख्तार अंसारी की बीवी को इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story