Top

राहुल गांधी बना रहे अनुकूल माहौल, बीजेपी के सारे अभियान हुए फेल: पी एल पुनिया

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 15 Sep 2018 10:48 AM GMT

राहुल गांधी बना रहे अनुकूल माहौल, बीजेपी के सारे अभियान हुए फेल: पी एल पुनिया
X
कांग्रेस ने पीएल पुनिया को बनाया छत्तीसगढ़ का प्रभारी, आरपीएन को झारखंड की जिम्मेदारी
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बाराबंकी: तीन राज्यों में होने वाले आगामी विधानसभा चुनावों के लिए काँग्रेस पार्टी अपनी कोई भी कसर छोड़ना नहीं चाहती क्योंकि 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा को पटकनी देकर जनता में यह सन्देश देना चाहती है कि भाजपा का विकल्प काँग्रेस है और मोदी का विकल्प राहुल हैं। इसीलिए पार्टी ने छत्तीसगढ़ में माहौल बनाने के लिए राहुल गांधी की सभाएँ करने और उनकी कार्यकर्ताओं से संवाद करने की योजना को मूर्तरूप देने का मन बनाया है। इसकी जानकारी आज काँग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता, राज्यसभा सांसद और छत्तीसगढ़ के प्रभारी डॉक्टर पी.एल.पुनिया ने दी। छत्तीसगढ़ के अलावा पुनिया ने केन्द्र सरकार के स्वच्छता अभियान और यूपी की कानून व्यवस्था पर भी सवाल खड़े किये।

छत्‍तीसगढ़ में दस दिन गुजारेंगे राहुल

बाराबंकी में शनिवार को अपने आवास पर पी.एल.पुनिया ने कहा कि नवम्बर 2018 में छत्तीसगढ़ , राजस्थान और मध्यप्रदेश के चुनाव हैं। जिसके लिए सभी राज्यों में राहुल गाँधी की सभाएँ होनी हैं। छत्तीसगढ़ के लिए भी राहुल गांधी ने दस दिन का समय दिया है। यहाँ बस में कुछ स्थानीय ज़मीनी नेताओं के साथ यात्रा करेंगे और जमीनी स्‍तर के कार्यकर्ताओं से संवाद स्थापित करेंगे। वैसे भी राहुल गांधी जहाँ जाते हैं, वहाँ उनको सुनने के लिए उत्साह के साथ लोग आते हैं। राहुल गांधी के जाने से छत्तीसगढ़ में एक अच्छा माहौल तैयार होगा। उनका संवाद करने का एक अलग ही तरीका होता है। जिसमें वह कार्यकर्ताओं के बीच अपनी बात कहते हैं और उनकी बात सुनते हैं।

प्रधानमंत्री मोदी के स्वच्छता अभियान पर यह कहना कि 2 अक्टूबर से पूरा देश बाहर शौंच जाने से मुक्त हो जाएगा यह गलत है। स्वच्छता अभियान कोई नया नहीं है। यूपीए सरकार में भी इस अभियान को चलाया जा रहा था तब इसका नाम निर्मल भारत था। पुनिया ने कहा कि यह सही है कि शौचालय हर किसी के पास होना चाहिए। यह अच्छी बात इस लिए भी है क्योंकि ग्रामीण और खासकर अनुसूचित जाति की महिलाओं के साथ अपराधिक घटनाएं या तो शौच के लिए जाते समय या वापस आते समय होती हैं, जो अमानवीय है। इसलिए शौचालय का इस्तेमाल तो होना ही चाहिए। यह बहुत बड़ा काम है। उन महिलाओं के साथ हो रहे अपराध रोकने दिशा में अच्‍छा काम है। मगर जो शौचालय मोदी बनवा रहे हैं, उसका इतेमाल नहीं हो रहा है। कोई उसे स्टोर रूम की तरह इस्तेमाल कर रहा है तो कोई किसी रूप में। अगर शौचालय बन गया है तो पानी की व्यवस्था नहीं है , बगैर पानी के शौचालय का इस्तेमाल कैसे होगा। इस पर भी पीएम मोदी को ध्यान देना चाहिए। मगर यह कह देना की 2 अक्टूबर से पूरा देश बाहर शौचालय जाने से मुक्त हो जाएगा, यह ठीक नहीं है।

कानून व्‍यवस्‍था भी ध्‍वस्‍त

डॉक्टर पी.एल.पुनिया नें उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि आज पूरे प्रदेश की कानून व्यवस्था चौपट हों गयी है। 2017 में जब चुनाव हुए थे तो भाजपा ने वादा किया था कि प्रदेश अपराध मुक्त होगा। यहाँ के अपराधी या जेल के अंदर होंगे या प्रदेश छोड़ कर भाग जाएंगे। मगर आज कानून व्यवस्था नाम की चीज ही पूरे प्रदेश में बची नहीं है। आज शक के आधार पर लिंचिंग की घटनाएं आम हो गयी हैं और इन्हें सत्ता का संरक्षण प्राप्त है। इनके मन में यह बात बैठ गयी है कि अब सरकार उनकी है और उन्हें कुछ नहीं होने वाला है। इसी कारण प्रदेश में अपराध जोरों पर है और यहाँ की आम जनता, महिलाएं सभी त्रस्त हैं।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story