Top

योगी के लिए गले की हड्डी बनेगा मुगलसराय स्टेशन का नाम बदलना

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 7 Jun 2017 2:25 PM GMT

योगी के लिए गले की हड्डी बनेगा मुगलसराय स्टेशन का नाम बदलना
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुगलसराय : उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल द्वारा मुगलसराय स्टेशन का नाम बदल कर दीनदयाल उपाध्याय स्टेशन करने के प्रस्ताव के खिलाफ बुधवार को कांग्रेस ने सड़क पर विरोध प्रदर्शन किया।

मंत्रिमंडल के इस निर्णय के खिलाफ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने यहां शास्त्री पार्क के पास मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पुतला फूंकने की कोशिश की। पुलिस द्वारा कोशिश को असफल करने पर कार्यकर्ता शास्त्री पार्क में धरने पर बैठ गए।

ये भी देखें :कैबिनेट: BJP सरकार के कामकाज में उभर रही पं. दीनदयाल की छाप, 25 सितंबर तक मनाया जाएगा जन्मशती वर्ष

शहर कांग्रेस अध्यक्ष रामजी गुप्ता ने कहा, "प्रदेश की भाजपा सरकार हिटलरशाही पर उतर आई है। डेढ़ सौ साल पुराने मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय रखना चाहती है। जबकि पंडित दीनदयाल उपाध्याय का सिर्फ पार्थिव शरीर मुगलसराय रेलवे स्टेशन पर मिला था। उनका मुगलसराय से ताल्लुक नहीं था।"

उन्होंने कहा कि यहां की जनता कतई नाम बदलने के पक्ष में नहीं है। चाहे तो मुख्यमंत्री सर्वे करा कर देख लें।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story