Politics

नई दिल्ली। कश्मीर मसले पर दुनिया भर में मुंह की खाने के बाद भी पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। पाकिस्तान के गृहमंत्रालय की ओर से जारी नोटिफ़िकेशन के अनुसार ईद उल अजहा को कश्मीरियों के प्रति एकजुटता दर्शाने के लिए सादगी से मनाने का आह्वान किया।

अपने भाषण के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा था कि जो सपना सरदार पटेल, बाबा साहेब अंबेडकर, डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी, अटल जी और करोड़ों देशभक्तों ने देखा था, वो अब पूरा हुआ है। अब देश के सभी नागरिकों के हक और दायित्व समान हैं।

लड़ाई ज्यादा बढ़ने के बाद अब्दुल्ला को फॉरेस्ट डिपार्टमेंट के गेस्ट हाउस में शिफ्ट किया गया। मगर महबूबा अभी भी हरि निवास में रह रही हैं। मालूम हो, ये वहीं निवास है, जोकि पहले मुख्यमंत्री आवास के तौर पर इस्तेमाल किया जाता था।

इसके बाद भी राहुल गांधी अपनी बात पर अड़े रहे। फिर सीडब्ल्यूसी की दूसरों बैठक हुई। इस दौरान भी उनसे आग्रह किया गया कि वह अध्यक्ष पद को न छोड़े लेकिन इस बार भी वो नहीं माने। अब सवाल खड़ा हुआ कि गांधी परिवार से ऐसा और कौन है जो ये ज़िम्मेदारी उठा सकता है।

शनिवार को दिनभर में कई परामर्श बैठके हुईं। इसके बाद रात में सीडब्ल्यूसी की बैठक हुई तो पार्टी के नेताओं ने राहुल गांधी से दोबारा अपने फैसले पर सोचने को कहा और उनसे यह भी आग्रह किया गया कि वह वापस से अध्यक्ष पद ग्रहण करें लेकिन राहुल गांधी ने साफ मना कर दिया।

पार्टी के नये अध्यक्ष को लेकर मुकुल वासनिक, मल्लिकार्जुन खड़गे, अशोक गहलोत और सुशील कुमार शिंदे सहित कई वरिष्ठ नेताओं के नामों की चर्चा है। सीडब्ल्यूसी की बैठक से एक दिन पहले राहुल गांधी ने पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों की बैठक में कहा था कि कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर अगले कुछ दिनों के भीतर निर्णय हो जाएगा।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कश्मीरी लड़कियों को लेकर एक विवादित बयान दिया है। जिसको लेकर दिल्ली की महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने ट्वीट कर इस बयान की कड़ी निंदा की है।

वह 2009 में हुए आमचुनाव में कर्नाटक के बैंगलुरू दक्षिण चुनाव क्षेत्र से 15वीं लोकसभा के लिए सदस्य निर्वाचित हुए थे। मोदी सरकार में उन्हें रसायन और उर्वरक मंत्रालय और संसदीय मामलों का मंत्री पद मिला।

सैनी ने सिर्फ इतना ही और भी कुछ बड़ा कहा था। सैनी ने कहा था कि अब कश्मीर जाकर बीजेपी के कुंवारे नेता न सिर्फ वहां प्लॉट खरीद सकते हैं बल्कि शादी भी कर सकते हैं। सैनी और खट्टर के बयानों पर अब बीजेपी की काफी किरकिरी हो रही है।

जेटली की पिछले कुछ महीने से बीमार चल रहे हैं। उन्हें सॉफ्ट टिशू कैंसर नाम की बीमारी है। जिसके इलाज के लिए जेटली जनवरी में अमेरिका गए थे। इससे पहले अरुण जेटली पिछले साल अपनी किडनी ट्रांसप्लांट भी करा चुके हैं।