Politics

कांग्रेस की सीनियर लीडर अंबिका सोनी ने कहा कि जल्द ही कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पार्टी के अध्यक्ष बन सकते हैं। उन्होंने कहा कि हम ये जानते हैं कि राहुल गांधी जल्द ही कांग्रेस के अध्यक्ष बनने वाले हैं, लेकिन मैं अभी आगे की जानकारी नहीं दे सकती। बता दें कि अंबिका सोनी पंजाब से राज्यसभा एमपी हैं। वह पूर्व सूचना एवं प्रसारण मंत्री भी रह चुकी हैं।

रामगोपाल को पार्टी से छह वर्ष के लिए निष्कासित कर दिया गया था। शिवपाल यादव ने रामगोपाल के निष्कासन की घोषणा के साथ उन पर बीजेपी के साथ मिल कर पार्टी को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया था। बाद में रामगोपाल ने मुलायम और शिवपाल को धमकी दी थी, कि अब वे उनके क्षेत्र में जाकर दिखाएं और बच कर आ जाएं।

राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) के जिला इकाई द्वारा नगर निगम प्रेक्षागृह में आयोजित जनसंवाद प्रोग्राम में शामिल होने मंगलवार को रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह वाराणसी पहुंचे। जहां उन्होंने समाजवादी पार्टी में चल रहे गृहयुद्ध के मसले पर कहा कि मुलायम सिंह यादव अपने कुनबे को संभाल लेंगे और जल्द सबकी नाराजगी को दूर कर एक कर लेंगे।

समाजवादी पार्टी में मचे घमासान पर और अपने ऊपर लगे आरोपों पर पार्टी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा एमपी अमर सिंह ने पहली बार चुप्पी तोड़ी है। इस घटनाक्रम में सीएम अखिलेश यादव को लेकर अमर सिंह ने कहा कि मैंने उन्हें उनके जन्मदिन पर शुभकामनाएं दी हैं। वह मेरे सर्वोच्च नेता के बेटे हैं, उनके साथ मेरी शुभकामनाएं हैं। खुद पर लगे आरोपों को लेकर अमर सिंह ने कहा कि मेरी खामोशी कई सवालों का जवाब है। अमर सिंह ने कहा कि कभी-कभी मौन रहना ही सभी सवालों और उन पर लगाए गए आरोपों का सर्वश्रेष्ठ रणनीतिक जवाब होता है। उन्होंने कहा कि मेरे पक्ष में खड़ा होने के लिए मैं मुलायम सिंह यादव और शिवपाल यादव को धन्यवाद देता हूं। अमर सिंह ने यूपी के सीएम अखिलेश यादव द्वारा उन पर लगाए गए आरोपों के बारे में पूछे जाने पर कहा कि वह इस मामले में कुछ भी नहीं कहेंगे।

हालात इतने खराब हो गए कि दोनों के समर्थक आपस में लड़ पड़े और जमकर मारपीट हुई। कहा जाता है कि विधायक आशू मलिक जो मुलायम के कट्टर समर्थक माने जाते हैं उन्होंने अखिलेश को धक्का दे दिया जिससे उनके समर्थक उग्र हो गए।इसके बाद मारपीट शुरू हो गई।

समाजवादी पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने रामगोपाल यादव को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। इसे मुलायम सिंह यादव की तरफ से अब तक सबसे बड़ी कार्रवाई के तौर पर देखा जा रहा है। बताया जा रहा है कि कुछ देर बाद सपा सुप्रीमो खुद प्रेस कांफ्रेंस कर सकते हैं, जिसमें वो ये इसकी घोषणा करेंगे।

जब अमर सिंह का नाम लिया, तो आजम बोले "आप नाम ले रहे हैं और मैं बिना नाम लिए कह रहा हू्ं।" प्रदेश मंत्रिमंडल में महत्वपूर्ण समझे जाने वाले आजम खान ने कहा कि समझदार लोग पहले से ही समझ रहे थे कि इस आदमी के कारण पार्टी को ये दिन देखना होगा।

भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो चुकी रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि अब समाजवादी पार्टी में विघटन होने वाला है।समाजवादी पार्टी में मची आपाधापी पर नजर है। रीता ने कहा कि जिस तरह विधायक शक्ति प्रदर्शन कर रहे हैं, उससे बिखराव तय हो चुका है।

सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने शनिवार को शिवपाल यादव और पार्टी के नेताओं के साथ मुलाकात की। सूत्रों के मुताबिक इस मुलाकात में सपा मुखिया मुलायम सिंह भावुक हो गए। उन्होंने कहा कि उन्हें यह उम्‍मीद नहीं थी कि कभी ऐसा दिन देखने को मिलेगा। उन्होंने कहा कि बेटे अखिलेश का बर्ताव देखकर दुख होता है। वह मेरा फोन भी नहीं उठाते। सपा मुखिया ने कहा कि अखिलेश मुझसे कभी भी गंभीर मुद्दों पर बात नहीं करते हैं।

लखनऊ: पिछले डेढ़ महीने से देश के सबसे बड़े राजनीतिक कुनबे में चल रही रार में शनिवार को साफ हो गया कि समाजवादी पार्टी टूटी भले न हो लेकिन दो हिस्से में जरूर बंट गई है। एक हिस्से की कमान सपा के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव, उनके भाई और प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव के …