तेज बहादुर यादव ने पीएम मोदी के चुनाव की वैधता को हाईकोर्ट में दी चुनौती

वाराणसी के सांसद और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चुनाव की वैधता को इलाहाबाद हाईकोर्ट में चुनौती दी गयी है। सीआरपीएफ़ के पूर्व सिपाही तेज बहादुर यादव ने रविवार को महानिबंधक के समक्ष उपस्थित होकर चुनाव याचिका दाखिल की है।

प्रयागराज : वाराणसी के सांसद और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चुनाव की वैधता को इलाहाबाद हाईकोर्ट में चुनौती दी गयी है। सीआरपीएफ के पूर्व सिपाही तेज बहादुर यादव ने रविवार को महानिबंधक के समक्ष उपस्थित होकर चुनाव याचिका दाखिल की है।

ये भी पढ़ें…प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशान इजुद्दीन सम्मान मिलने पर बहुत बधाई- निर्मला सीतारमण

याची ने अपने नामांकन पत्र को बनाया है आधार

नियमानुसार चुनाव प्रणाम घोषित होने के 45 दिन के भीतर ही चुनाव याचिका दाखिल की जा सकती है। याचिका में याची ने अपने नामांकन पत्र को नियम विरुद्ध खारिज करने को आधार बनाया है।

ये भी पढ़ें…मुजफ्फरपुर के हालात पर पीएम मोदी की नजर है: हर्षवर्धन

कौन हैं तेज बहादुर यादव

बीएसएफ में कांस्टेबल रहे तेज बहादुर यादव खराब खाने की क्वालिटी पर सवाल उठाने के बाद चर्चा में आए थे। बाद में उन्हें बीएसएफ से बर्खास्त कर दिया गया था। इसके बाद तेज बहादुर ने वाराणसी लोकसभा क्षेत्र से पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने का निर्णय लिया।

तेज बहादुर ने पहले निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर वाराणसी से नामांकन किया था। बाद में सपा ने अपनी प्रत्याशी शालिनी यादव का टिकट काटकर उन्हें गठबंधन का उम्मीदवार बना दिया। हलफनामे में जानकारी छुपाने के आरोप के चलते निर्वाचन अधिकारी ने उनका नामांकन रद्द कर दिया था। इसके बाद फिर शालिनी यादव गठबंधन की उम्मीदवार बनी।

ये भी पढ़ें…मोदी सरकार ने किसानों को दिया तोहफा, किया ये बड़ा ऐलान