Top

राहुल गांधी हैं लापता, जो खोजे वो पाए इनाम, अमेठी में लगे पोस्टर

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 8 Aug 2017 12:46 PM GMT

राहुल गांधी हैं लापता, जो खोजे वो पाए इनाम, अमेठी में लगे पोस्टर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अमेठी: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी में उनके लापता होने के पोस्टर चस्पा किये गये हैं, और उनको खोज कर लाने वाले को उचित इनाम भी देने की बात कही गयी है। कांग्रेस ने इसे साजिश करार देते हुए मुकदमा दर्ज कराने की बात कही है।

अमेठी में करीब सात महीनों से राहुल के न जाने पर जगह-जगह चिपकाये गये पोस्टर में लिखा है, कि राहुल गांधी लापता हैं, जिसके कारण क्षेत्र का विकास ठप है। उनके व्यवहार से आम जनता ठगा तथा अपमानित महसूस कर रही है। अमेठी में इनकी जानकारी देने वालों को उचित पुरस्कार दिया जाएगा।

राहुल की गुमशुदगी वाले जो पोस्टर लगाए गए हैं, उनमें न तो निवेदक में किसी का नाम है, और न ही कोई नंबर दिया गया है। अमेठी की हर गली की दीवारों के साथ ही सरकारी कार्यालयों व कांग्रेस कार्यालय की दीवार पर राहुल लापता के होने वाले पोस्टर चस्पा किए गए हैं।

वहीँ कांग्रेस जिलाध्यक्ष योगेन्द्र मिश्र ने राहुल के बारे में ऐसे पोस्टर चस्पा कराये जाने को भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की साजिश करार देते हुए कहा, कि पूर्व में भी ऐसी हरकतें होती रही हैं। उन्होंने कहा कि वह इस मामले को लेकर पुलिस में शिकायत दर्ज कराएंगे।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story