Top

राज ठाकरे ने बेटे की शादी में राहुल को भेजा कार्ड, पीएम मोदी को किया इग्नोर

राज ठाकरे ने शादी समारोह में शामिल होने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी समेत कई दिग्गजों को न्योता भेजा है लेकिन प्रधानमंत्री मोदी को आमंत्रण नहीं भेजा गया है। जानकारी के मुताबिक शादी समारोह में शामिल होने के लिए पीएम मोदी कैबिनेट के सहयोगियों को भी न्यौता भेजा गया है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 14 Jan 2019 9:22 AM GMT

राज ठाकरे ने बेटे की शादी में राहुल को भेजा कार्ड, पीएम मोदी को किया इग्नोर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुंबई: एमएनएस प्रमुख राज ठाकरे के बेटे अमित ठाकरे की 27 जनवरी को मुंबई में शादी हो रही है। इस शादी समारोह में राजनेताओं से लेकर तमाम लोगों के शामिल होने का न्यौता भेजा जा रहा है। खबरों के मुताबिक राज ठाकरे ने शादी समारोह में शामिल होने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी समेत कई दिग्गजों को न्योता भेजा है लेकिन प्रधानमंत्री मोदी को आमंत्रण नहीं भेजा गया है। जानकारी के मुताबिक शादी समारोह में शामिल होने के लिए पीएम मोदी कैबिनेट के सहयोगियों को भी न्यौता भेजा गया है।

ये भी पढ़ें...मुंबईः राज ठाकरे के बर्थ-डे पर ओवैसी की फोटो लगा केक कटने से विवाद

राज ठाकरे के बेटे अमित ठाकरे की शादी डॉ. संजय बोरुडे की बेटी मिताली के साथ तय हुई है। लोअर परेल स्थित एक होटल में विवाह समारोह का आयोजन किया गया है।

दिल्ली में राजनेताओं को बेटे की शादी का कार्ड देने राज ठाकरे स्वायं नहीं गए। उन्होंैने अपने दो सहयोगियों हर्षल देशपांडे और मनोज हाटे के माध्यकम से निमंत्रण भेजा है। ठाकरे की गेस्टं लिस्ट में राहुल गांधी के अलावा पूर्व कांग्रेस अध्यीक्ष सोनिया गांधी, केंद्रीय मंत्री सुषमा स्व राज, नितिन गडकरी, राजनाथ सिंह, प्रकाश जावेडकर, मेनका गांधी और धर्मेंद्र प्रधान का नाम शामिल हैं।

इस महीने की शुरुआत में राज ठाकरे एनसीपी के अध्यसक्ष शरद पवार को व्य‍क्तिगत रूप से शादी का कार्ड देने गए थे। इस दौरान दोनों के बीच करीब दो घंटे तक बातचीत हुई, जिससे राजनीतिक गलियारों में तरह-तरह की चर्चाएं शुरू हो गईं। ठाकरे अपने चचेरे भाई और शिवसेना के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे को भी व्यंक्तिगत रूप से निमंत्रण पत्र देने गए थे।

गौरतलब है कि पिछले कुछ सालों से राज ठाकरे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्योक्ष अमित शाह की जमकर आलोचना करते आए हैं। ऐसे में उनके इस फैसले के कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं।

ये भी पढ़ें...जाने क्यों उद्धव ठाकरे से मिलने उनके घर पहुंचे राज ठाकरे

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story