Top

SC-ST एक्ट के खिलाफ सवर्णों ने भरी हुंकार, वाराणसी में जगह-जगह तोड़फोड़ और उपद्रव  

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 6 Sep 2018 12:52 PM GMT

SC-ST एक्ट के खिलाफ सवर्णों ने भरी हुंकार, वाराणसी में जगह-जगह तोड़फोड़ और उपद्रव  
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

वाराणसी: एससी एसटी एक्ट को लेकर विरोध की चिंगारी अब शोला बनकर दहक रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी सवर्ण समाज सड़कों पर उतरा और जमकर प्रदर्शन किया। शहर में भारत बंद का व्यापक असर दिखा। प्रमुख बाजारों में दुकानें बंद थीं तो जगह-जगह प्रधानमंत्री के पुतले फूंककर लोगों ने अपने गुस्से का इजहार किया। प्रदर्शनकारियों ने कई जगहों पर तोड़फोड़ भी की। आलम ये रहा कि प्रदर्शनकारियों से निबटने के लिए पुलिस हांफती दिखी।

बीएचयू के बाहर छात्रों का विरोध

बीएचयू में भी भारत बंद का असर दिखा। छात्रों के एक गुट ने हैदराबाद गेट के बाहर हाईवे जाम कर दिया और नारेबाजी शुरू की। छात्रों ने प्रधानमंत्री का पुतला फूंका और कानून को वापस लेने की मांग की। प्रदर्शनकारियों की अगुवाई कर रहे दीपक सिंह के मुताबिक एससी एसटी एक्ट कानून सवर्ण समाज के लोगों को फंसाने का नया जरिया बन चुका है। केंद्र सरकार को सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हुए तत्काल इस कानून को वापस लेना चाहिए।

डीएम दफ्तर तक पहुंचे प्रदर्शनकारी

सवर्णों द्वारा एससी-एसटी एक्ट के विरोध का स्वर गुरूवार को जिलाधिकारी आफिस के पोर्टिकों में भी गूंजा, जब शास्त्री घाट से जुलूस की शक्ल में निकले सैंकड़ों लोगों ने जिला मुख्यालय के मुख्य द्वार पर सुरक्षा कर्मियों को परास्त करते हुए डीएम पोर्टिको तक का रास्ता तय किया और डीएम पोर्टिको के नीचे जमकर विरोध प्रदर्शन किया। इस पूरे प्रदर्शन के दौरान पुलिस के जवान मूक दर्शक बने रहे। शहर के वरुणा तट स्थित शास्त्री घाट से सवर्णों द्वारा एससी-एसटी एक्ट के विरोध में भारत बंद एक समर्थन में हिन्दू युवा शक्ति के बैनर तले एक वृहद् विरोध जुलूस निकला गया। इस जुलूस में सैंकड़ों नौजवान योगी मोदी हाय हाय का नारा लगाते हुए चल रहे थे। हिन्दू युवा संगठन के कार्यकर्ताओं ने सबसे पहले अर्दली बाज़ार में खुली हुई दुकानों को बंद करवाया। उसके बाद भूजूबीर में दुकाने बंद करवाते हुए ये जुलूस जिला मुख्यालय के गेट पर पहुंचा जहां तैनात पुलिस से इनकी तीखी नोकझोक हुई और पुलिस बल इन्हें रोकने में असफल रहा।

प्रदर्शनकारियों को मिला वकीलों का साथ

हिन्दू युवा शक्ति के कार्यकर्ता जिलाधिकारी पोर्टिको तक पहुँच गये और यहाँ जमकर नारे बाज़ी की , यहाँ पहुंचे कार्यकर्ताओं का समर्थन वकीलों ने भी किया। इस सम्बन्ध में हिन्दू युवा शक्ति के राष्ट्रिय अध्यक्ष निर्भय सिंह ने बताया कि मोदी सरकार ने हम सवर्णों को इस एक्ट के माध्यम से छलने का कार्य किया है। हम इस एक्ट का हर हाल में विरोध करते हैं। यदि सरकार ने यह एक्ट वापस नहीं लिया तो हम और उग्र आन्दोलन के लिए बाध्य होंगे।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story