Top

मुसलमानों का राइट आॅफ वोट खत्म करिए, न चुनाव लड़ सकें, न दे सकें

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 31 May 2017 9:43 AM GMT

मुसलमानों का राइट आॅफ वोट खत्म करिए, न चुनाव लड़ सकें, न दे सकें
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रामपुर : पूर्व मंत्री व सपा नेता आजम खां ने टाण्डा में हुई घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यहाँ सामूहिक बलात्कार हुआ ही नहीं करते थे। जीरो क्राइम का जिला था। कानून सख्ती से लागू किया जाता है, लडडूू पेड़े से नहीं किया जाता। राज्यमंत्री बलदेव औलख के क्षेत्र बिलासपुर को क्राइम की जननी बताया। बहन बेटियों के साथ जो कुछ हुआ, वह ढिलाई का नतीजा है। ऐसा मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र होने के कारण हो रहा है।

उन्होंने कहा मोदी जी और योगी जी ने दो करोड़ नौकरियां देने का वायदा किया, लेकिन लोगों के पास रोजगार नहीं है। आजम खां ने कहा कि आज ऐसे लोगों के पास सत्ता है जिन्होंने आज हालात यहां तक पहुंचा दिये।

अयोध्या में योगी के मामले पर कहा कि वह धार्मिक व्यक्ति हैं और महंत उन्हें कोई मंदिर छोड़ना ही नहीं चाहिए।

बाबरी मस्जिद प्रकरण पर आजम ने कहा कि बाबरी मस्जिद को ढांचा कहकर हमें जलील किया जाता है। उन्होंने कहा जिस दिन मस्जिद गिराई गयी तब फोर्स थी बाबरी गिराने वाला पक्ष था, मुस्लिमों को पांच मीटर तक न आने का एक्जिक्यूटिव आॅर्डर था, एक पक्ष ने बड़ी बहादुरी से मस्जिद डायनामाइट से गिरा दी दूसरा पक्ष नहीं था इस पर नाज होना चाहिए।

पूर्व मंत्री ने कहा मुल्क चलाने वालों को यह सोेचना चाहिए था, कि क्या कर रहे हैं। एक व्यक्ति जो सजा पा चुका है, वह आज संविधान का रक्षक है। मुसलमानो की नफरत में आप जो चाहें करिए। हम तो बराबर कहते हैं, मुसलमानों का राइट आॅफ वोट खत्म करिए, न चुनाव लड़ सकें न दे सकें। उस दिन विवाद और आपकी नाराजगी हो सकता है खत्म हो जाये।

केरल और बीफ पार्टियों के मुददे पर बोलते हुए आजम खां ने कहा कि हम पिछले 20-25 साल से सलाॅटर हाउस बंद करने के पक्ष हैं। हमारी सरकार की पहली कैबिनेट में सलाॅटर हाउस बंद करने को कहा गया था। केन्द्र सरकार का विषय होने के चलते बंद नहीं हो सके। अगर केन्द्र सरकार सलाॅटरिंग बंद करना चाहती है, तो किसी कानून की जरूरत नहीं है सिर्फ एक्सपोर्ट बंद कर दें। किसी एक पशु को नहीं बचाना चाहिए बल्कि जीव हत्या रूकनी चाहिए, न कि कोई एक हत्या। हमारे भाई लोग मैजोरिटी के लोग जो खाते हैं जैसे बकरा, मुर्गा बटेर आदि तो जायज है, और जो गरीब खाता है वह पाप हो जाये। वध पर रोक होना चाहिए आदमी को भी नहीं काटा जाना चाहिए।

योगी सरकार के कामकाज पर सौ में एक हजार नंबर देते हुए आजम खां ने कहा, कि जो कुछ हो रहा है उसमें, योगी जी का कोई योगदान नहीं है। बल्कि हमारा मुकददर ही ऐसा है। ऐसा महसूस हो रहा है कि पूरे देश की तबाही का कारण मुसलमान हैं। अगर मुसलमानों को सियासत के पर्दे से हटा दें तो मुल्क में शांति आ सकती है।

सपा नेता ने कहा आज यह बहस का मौजू हैं कि जिन्ना सही थे या फिर मौलाना आजाद। आज इस पर बात करने का वक्त आ गया है। हम चाहते हैं छोटे भाई की तरह रहे। जितने हक हकूक काटे जाते हैं काट लिये जायें, लेकिन नस्लें न काटी जाये। जितनी भी देश में सरकारें हैं, मुस्लिम नफरतों की सरकारें हैं। कहते हैं गंगा और जमुना तो गंदी हैं, तो गंदी तहजीब से क्या मिलेगा। कोई साफ करने को तैयार नहीं। तीन साल में तो शुरूआत भी नहीं हुई।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story