अयोध्‍या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद संघ की रणनीति तैयार, जानिए क्या होगा ?

आरएसएस संघ प्रमुख मोहन भागवत अयोध्‍या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद सामाजिक-धार्मिक सौहार्द बनाने की अपील करेंगे। आरएसएस संघ प्रमुख मोहन भागवत अयोध्‍या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले  के बाद देश को संबोधित करेंगे।

जयपुर: आरएसएस संघ प्रमुख मोहन भागवत अयोध्‍या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद सामाजिक-धार्मिक सौहार्द बनाने की अपील करेंगे। आरएसएस संघ प्रमुख मोहन भागवत या भैय्या जोशी अयोध्‍या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले  के बाद देश को संबोधित करेंगे। संघ का कहना है कि अयोध्या पर फैसला जो भी आए, देश का सामाजिक-धार्मिक सौहार्द नहीं बिगड़ना चाहिए। इसके लिए हिंदूओं को संयमित रहने के लिए निवेदन किया है।

यह भी पढ़ें…तीस हजारी कोर्ट: झड़प मामला पहुंचा कोर्ट, अफसरों पर आई आफत

ना जश्न, ना विरोध की अपील

संघ का कहना है कि यह फैसला किसी की हार-जीत का नहीं बल्कि खुलकर स्वीकारने का है। इसलिए फैसला के बाद जश्न मनाने जैसी बात नहीं होनी चाहिए और न विरोध होना चाहिए। 17 नवंबर से पहले राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट से फैसला आ जाएगा। अयोध्या मामले पर शांति बहाल रखने के लिए बीजेपी और आरएसएस प्रमुख ने बैठक कई अहम फैसले लिए है।

 

यह भी पढ़ें…अयोध्या पर फैसले से पहले CM योगी ने अधिकारियों को चेताया

मुस्लिम संप्रदाय भी करेगा सम्मान

इधर इससे पहले 5 नवंबर को केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी के आवास पर बैठक हुई थी, जिसमें संघ नेता कृष्ण गोपाल,  भाजपा प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन के साथ-साथ जमीयत उलेमा ए हिंद के महमूद मदनी, शिया धर्मगुरु कल्बे जव्वाद, अंजुमन अजमेर ए शरीफ के सय्यद मोईनुद्दीन चिश्ती समेत मुस्लिम संप्रदाय के धर्मगुरू व  दर्जनों मुस्लिम विद्वान मौजूद थे। शिया धर्मगुरु ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने जो भी फैसला सुनाया, हम सभी को उसका सम्मान करना चाहिए। हम सभी से अपील करेंगे कि शांति बनाए रखें। अयोध्या में साक्ष्यों और सबूतों के आधार पर सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला आएगा, हमें मान्य होगा।