Top

मासूमों की मौत पर मंत्री के विवादित बोल, कहा- मौत के जिम्मेदार खुद परिजन 

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 23 Sep 2018 2:07 PM GMT

मासूमों की मौत पर मंत्री के विवादित बोल, कहा- मौत के जिम्मेदार खुद परिजन 
X
तीन तलक पर स्वामी प्रसाद मौर्या बोले- हवस मिटाने के लिए मुस्लिम बदलते हैं बीवियां
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बहराइच: जिला अस्पताल में बुखार, डायरिया व अन्य रोगों से जहां एक तरफ बीते पचास दिनों में 80 से ऊपर मासूमों की मौत को लेकर विपक्षी दल लगातार सरकार पर हमलावर हैं। तो वहीं दूसरी ओर प्रदेश सरकार के मंत्री अपने बयानों से अपनी ही सरकार के सामने मुश्किलें खड़ी करने से बाज नहीं आ रहे हैं। इसी कड़ी में ताजा बयान प्रदेश के श्रम व सेवायोजन व जिले के प्रभारी मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य का है। जिसमे उन्होंने जिला अस्पताल में लगातार हो रही मासूमों की मौत के लिये उनके परिजनों को ही जिम्मेदार ठहराते हुये । डॉक्टरों को क्लीनचिट दे दी।

मंत्री को कम लगे मौत के आंकड़े

प्रदेश के श्रम मंत्री स्‍वामी प्रसाद मौर्य जिले के प्रभारी मंत्री भी है। आज वो यहां पर केंद्र सरकार की और से शुरू की गयी आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ करने आये थे। कार्यक्रम के बाद पत्रकार वार्ता के दौरान जब मीडिया कर्मियों ने उनसे जिला अस्पताल में लगातार हो रही मासूमों की मौत के बारे में जानना चाहा तो उन्होंने इसके लिये मृत बच्चो के परिजनों को ही जिम्मेदार ठहरा दिया। उन्होंने कहा कि जिला अस्पताल में सारी सुविधाएं मौजूद हैं। परिवार के लोग बच्चो की तबियत खराब होने पर झोलाछाप व प्राइवेट डॉक्टरों को दिखाते हैं। और जब उनकी हालत मरणासन्न हो जाती है तब उन्हें लेकर जिला अस्पताल आते हैं। इसके लिये कही न कही वो खुद ही जिम्मेदार है। इतना ही नही उन्होंने ये कहते हुये सरकार का बचाव किया कि हर साल बच्चों की मौत होती है। लेकिन इस साल कम हुई हैं।

एक तरफ जहां मासूमों की मौत से परिजन सदमे में हैं वही दूसरी और सरकार के जिम्मेदार मंत्री का ये बयान उनकी संवेदनहीनता को साफ दर्शा रहा है।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story