Top

'भारत के मन की बात' में शाह बोले, 2014 से पहले चुनाव जीतने के लिए किए गए सिर्फ झूठे वादे

लोकसभा चुनावों के लिए बीजेपी बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को भारत के मन की बात कैंपेन की शुरुआत की। इसके जरिए बीजेपी लोगों की राय लेकर अपना संकल्प पत्र (घोषणा पत्र) तैयार करेगी।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 3 Feb 2019 6:05 AM GMT

भारत के मन की बात में शाह बोले, 2014 से पहले चुनाव जीतने के लिए किए गए सिर्फ झूठे वादे
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: लोकसभा चुनावों के लिए बीजेपी बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को भारत के मन की बात कैंपेन की शुरुआत की। इसके जरिए बीजेपी लोगों की राय लेकर अपना संकल्प पत्र (घोषणा पत्र) तैयार करेगी। इस मौके पर अमित शाह ने कहा कि 'भारत के मन की बात - मोदी के साथ', कार्यक्रम भारत की चुनाव प्रक्रिया में अपने आप में एक अनूठा कार्यक्रम होगा।

ये भी पढ़ें...अमित शाह पर फिल्म बनाने के लिए ये बंदा मांग रहा है सेंसर बोर्ड से परमिशन

महीने भर तक चलने वाले इस कार्यक्रम की शुरुआत आज से हो गई है। आगामी लोकसभा चुनाव के लिए यह पार्टी के संकल्प पत्र (घोषणापत्र) का आधार बनेगा।

ये भी पढ़ें...हेलीकाप्टर पर फिर फंसा अमित शाह का पेंच! नहीं मिली लैंडिंग की इज़ाज़त

कार्यक्रम में बोलते हुए अमित शाह ने कहा, 2014 के पहले देश के अंदर जो स्थिति थी, वो देश के लोकतंत्र में लोगों की आस्था को डिगाने वाली थी। 2014 के पहले 30 साल तक देश की समस्याओं के समाधान के लिए दूरदर्शी सोच के साथ ठोस कदम नहीं उठाए गए। 2014 से पहले चुनाव जीतने के लिए सिर्फ झूठे वादे किए गए जिससे देश के अर्थतंत्र के सारे पैरामीटर औंधे मुंह गिर गए थे। उन्होंने कहा कि 2014 में 30 साल बाद देश की जनता ने मोदी जी के नेतृत्व वाली पूर्ण बहुत की सरकार बनाई। नरेंद्र मोदी सरकार ने देश की स्थिति को बदला है। प्रधानमंत्री जी की दूरदर्शी नीतियों के कारण देश में दीर्घकालिक विकास की नींव रखी गई है।

ये कार्यक्रम नया भारत बनाने के लिए है: शाह

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा, 'भारत के मन की बात - मोदी के साथ', कार्यक्रम भाजपा का नहीं है, बल्कि देश के लिए है। ये कार्यक्रम देश को सुरक्षित करने, गरीब का जीवन स्तर ऊंचा उठाने के लिए है। ये कार्यक्रम नया भारत बनाने के लिए है। उन्होंने कहा कि भारत के मन की बात - मोदी के साथ', संकल्प पत्र के लोकतांत्रिकरण का ये अनुठा प्रयोग है। 10 करोड़ परिवार कैसा देश चाहते हैं ये बात उनसे जानी जाएगी। उन्होंने कहा, 'भारत के मन की बात - मोदी के साथ', कार्यक्रम भाजपा का नहीं है, बल्कि देश के लिए है। ये कार्यक्रम देश को सुरक्षित करने, गरीब का जीवन स्तर ऊंचा उठाने के लिए है। ये कार्यक्रम नया भारत बनाने के लिए है।

राष्ट्रविरोधी ताकतों के खिलाफ हमारी सरकार ने कठोर कदम उठाए हैं: राजनाथ

राजनाथ सिंह ने कहा कि हमारी सरकार देश के सुरक्षा चक्र को इतना मजबूत बना देना चाहती है कि हमारा सुरक्षा चक्र विरोधी ताकतों के लिए 'सुदर्शन चक्र' साबित हो। भारतीय संस्कृति का संवर्धन भाजपा के हाथों से ही संभव है, इस सच्चाई को आज हर व्यक्ति स्वीकार कर चुका है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रविरोधी ताकतों के खिलाफ हमारी सरकार ने कठोर कदम उठाए हैं। देश में शांति और सुरक्षा का वातावरण बना है। आतंकवादी घटनाएं पिछले दो दशकों की तुलना में आज न्यूनतम स्तर पर हैं।

जो जनता के लिए काम करता है जनता उम्मीद भी उसी से करती है: राजनाथ

राजनाथ सिंह ने कहा, जो जनता के लिए काम करता है जनता उम्मीद भी उसी से करती है। जनता की उम्मीदों और अपेक्षाओं की कसौटी पर खरा उतरने की चुनौती पीएम मोदी ने स्वीकार की है। जनता की उम्मीदों को सम्मान देना भाजपा अपना कर्त्तव्य ही नहीं बल्कि नैतिक दायित्व मानती है। हम आगे और क्या कर सकते हैं इस पर जनता की राय जानी जाएगी। विशेष तौर पर देश की सम्मानित महिलाओं के साथ भी हमारी टीम संपर्क करेगी।

मोदी सरकार ने किसानों के लिए बहुत काम किया है: राजनाथ सिंह

राजनाथ सिंह ने कहा, जनभागीदारी से ही लोकतंत्र को मजबूती मिलती है। देश में पहली बार कोई राजनीतिक दल अपना संकल्प पत्र बनाने के लिए इतने बड़े स्तर पर जनसंपर्क करने जा रहा है। उन्होंने बताया कि 12 क्षेत्रों में घोषणा पत्र पर लोगों की राय ली जाएगी और 2014 के नतीजों पर बुलंद इमारत खड़ी करनी है। पांच सालों के दौरान हमने किसानों के लिए बहुत काम किया है और पहले की सरकारों ने किसानों के लिए काम करने की बात कही है लेकिन हमारी सरकार ने काम किया है। स्वतंत्र भारत के इतिहास में डेढ़ गुना कीमत देने का काम मोदी सरकार में हुआ है। 2022 तक किसानों की आय दोगुना करने के लिए काम किए गए है और इसके लिए अंतरिम बजट में किसानों के लिए छह हजार रुपये सालाना आय सुनिश्चित की गई है।



बलूनी ने कहा था, ‘हम इस कार्यक्रम की शुरुआत इस मान्यता के साथ कर रहे हैं कि यह देश के भविष्य के लिए एक खाका तैयार करने के वास्ते मिल कर काम करने वाला सबसे बड़ा अभियान होगा।’ उन्होंने कहा कि भाजपा लोगों का विचार जानने के लिए विभिन्न माध्यमों के जरिए देश भर में लोगों से संपर्क साधेगी।

ये भी पढ़ें...भारत माता की जय पर अमित शाह मालदा की रैली में झूठ बोल आए हैं

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story