Top

ये काम तेज प्रताप ही कर सकते हैं: हाथ से ड्रोन पकड़ लोगों से कहा- हवा लग रही है...

तेज प्रताप शुक्रवार को शिवहर पहुंचे। यहां के किसान मैदान से उन्होंने अपनी बदलाव यात्रा की शुरुआत की। तेजप्रताप ने इस दौरान आयोजित कार्यक्रम में मंच से स्वर्णजड़ित शंख फूंककर शंखनाद किया और अपने भाषण से लोगों का खूब मनोरंजन भी किया।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 2 Feb 2019 10:29 AM GMT

ये काम तेज प्रताप ही कर सकते हैं: हाथ से ड्रोन पकड़ लोगों से कहा- हवा लग रही है...
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटना: बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव एक बार फिर से चर्चा में है। इस बार चर्चा की वजह कोई विवाद नहीं बल्कि उनकी भाषण शैली रही। जिसने लोगों को हंसा-हंसाकर लोटपोट कर दिया। उनके भाषणों से लालू प्रसाद की पुरानी यादें भी ताजा हो गई।

ये है पूरा मामला

तेजप्रताप शुक्रवार को शिवहर पहुंचे। यहां के किसान मैदान से उन्होंने अपनी बदलाव यात्रा की शुरुआत की। तेजप्रताप ने इस दौरान आयोजित कार्यक्रम में मंच से स्वर्णजड़ित शंख फूंककर शंखनाद किया और अपने भाषण से लोगों का खूब मनोरंजन भी किया।

तेजप्रताप ने चलाया ड्रोन कैमरा और कहा-पंखे की हवा खिला रहे हैं

ड्रोन कैमरा का रिमोट हाथ में लेकर कैमरे को दर्शक दीर्घा में नीचे लाकर कहा कि जनता को पंखे की हवा खिला रहे हैं। फिर कहा कि हमरा जैसन पलटू सल्टू से नहीं उड़ाने आएगा। वक्ताओं को कहा कि कम ही बोलिएगा।संबोधन के बीच शंख एवं बांसुरी भी बजाते हुए कहा कि बीजेपी, आरएसएस और बजरंग दल वाला से नहीं बजेगा। कहा कि हम मूडियल हैं, अबकी बार छक्के छुड़ा देंगे।

ये भी पढ़ें...तेज प्रताप ने सुशील मोदी पर दिया तीखा बयान- ‘मैं नहीं डरता, घर में घुसकर मारूंगा’

तेजप्रताप में दिखा लालू का अक्श

तेजप्रताप भी लालू की ही तरह अपनी खास शैली और लोगों के बीच जाकर उनकी तरह बातें करना भी बखूबी जानते हैं। लोग तेजप्रताप में लालू का अक्श देखने लगे हैं। कभी तो वो सड़क पर रिक्शा चलाने लगते हैं तो कभी लोगों के साथ बैठकर सत्तू खाने लगते हैं तो कभी सरेआम हैंडपंप चलाकर नहाने भी लगते हैं।

अफ़रा-तफ़री पर कहा- सावधान रहिएगा, आरएसएस वाला न घुस जाए

मंच पर आते ही पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव ने माइक थाम लिया। महिला नेत्रियों को कुर्सी देने का आदेश दिया। वहीं उमड़ी भीड़ को बैठ जाने का सख्त निर्देश दिया। कहा डिसीप्लीन सिखाने के लिए ही बदलाव यात्रा की शुरुआत की गई है। मंच पर चढ़ने की हुई अफ़रा-तफ़री के बीच कहा सावधान रहिएगा कहीं आरएसएस वाला न घुस जाए।

यही वजह है कि उनके जनता दरबार में लोग अपनी फरियाद लेकर रोज आते थे और तेजप्रताप एक-एक व्यक्ति की समस्या सुनकर तुरंत ही उसके निवारण में लग जाते थे। तेजप्रताप के जनता दरबार में शामिल लोगों का भी यही कहना है कि तेजप्रताप लालू जी की तरह हैं, लोगों की बात बड़े ध्यान से सुनते हैं।

ये भी पढ़ें...पत्‍नी ऐश्‍वर्या से तलाक लेने के पीछे तेज प्रताप यादव के पास हैं 5 कारण

बिहार में जल्द शुरू होगा लालू मूवमेंट

तेजप्रताप यादव ने कहा कि जेपी मूवमेंट के बाद कोई दमदार आंदोलन नहीं हुआ। गरीबों के हमदर्द लालू प्रसाद यादव को साजिशन जेल में बंद किया गया है। उन्हें निकालने के लिए लालू मूवमेंट चलेगा। इससे गरीबों के हक की रक्षा होगी। बीजेपी, आरएसएस एवं बजरंग दल वाले फिर से बहकाने को आएंगे। किसी के झांसे में नहीं आना है।

तेजस्वी होगा बिहार का अगला सीएम

तेजप्रताप ने कहा कि मैं कृष्ण की भूमिका में हूं और तेजस्वी मेरा अर्जुन है। वही बिहार का अगला मुख्यमंत्री होगा। कहा कि वर्तमान सरकार ने छात्रों, युवा, मजदूर, किसान और महिलाओं के हक की अनदेखी की है। विकास न जाने कहां खो गया है। अपराधी दिनदहाड़े घटना को अंजाम दे रहे हैं। बिना घूस के कोई भी काम नहीं हो रहा। कानून नाम की कोई चीज नहीं है। ऐसे में जनता बदलाव चाहती है। इसे लक्ष्य कर यहां से बदलाव यात्रा की शुरुआत की गई है।

ये भी पढ़ें...तेज प्रताप ने लगाई सीएम नीतीश कुमार से मदद की गुहार, कहा- चाचा बंगला नहीं मिलेगा?

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story