Top

अब इनकी सुनिए- अखिलेश लड़कपन छोड़ें और जिम्मेदार नेता बनें

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 30 Aug 2017 4:00 PM GMT

अब इनकी सुनिए- अखिलेश लड़कपन छोड़ें और जिम्मेदार नेता बनें
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव के आजमगढ़ रैली में भाजपा की केंद्र में सरकार न बनने और उत्तर प्रदेश की सत्ता में सपा की वापसी के बयान को शेखचिल्ली का हसीन सपना करार दिया और कहा कि अखिलेश लड़कपन छोड़ें और जिम्मेदार नेता बनें।

ये भी देखें:अब जल्द ही खादी पर दिखेगी योगी सरकार की मेहरबानी, होंगे कई बदलाव

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने कहा कि अखिलेश यादव अभी भी परिपक्व नेता की भांति व्यवहार नहीं कर पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री से अपेक्षा है कि अब वह मुलायम सिंह यादव के पुत्र की छवि से बाहर निकल कर स्वयं को एक जिम्मेदार नेता साबित करें।

ये भी देखें:अन्ना का अल्टीमेटम : जल्द लोकपाल नियुक्त नहीं किया, फिर होगा आंदोलन

त्रिपाठी ने कहा, "अखिलेश ने जबसे समाजवादी पार्टी की कमान संभाली है, तभी से सपा लगातार दुर्दशा की तरफ बढ़ रही है। अपनी पार्टी और परिवार को एकजुट नहीं रख पा रहे अखिलेश के लिए लोकसभा और विधानसभा के चुनाव परिणाम सबक हैं, लेकिन वह उससे कुछ भी सीखने को तैयार नहीं हैं।"

ये भी देखें:रेखा की वजह से सलमान ने नहीं की आज तक शादी, जानिए किसने खोला राज?

अखिलेश के 'भाजपा वाले झाडू लगाते अच्छे लगते हैं' बयान पर त्रिपाठी ने कहा, "स्वच्छता अभियान का मखौल उड़ा कर अखिलेश अपना लड़कपन सिद्ध कर रहे हैं। स्वच्छता जैसे मसले पर दलगत राजनीति से परे रहकर उन्हें भी झाड़ू उठानी चाहिए।"

अखिलेश पहले भी बीजेपी पर हमलावर रहे हैं।



Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story