Top

बाराबंकी बवाल में BJP MLA नीरज बोरा ने शासन को ही कटघरे में खड़ा कर दिया

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 11 Oct 2017 2:17 PM GMT

बाराबंकी बवाल में BJP MLA नीरज बोरा ने शासन को ही कटघरे में खड़ा कर दिया
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बाराबंकी : हमारे नेताओं की फिसलती हुई जुबान के कई किस्से मशहूर हैं। और ये जुबानी फिसलन हमेशा गंभीर मुद्दों पर ही होती हैं। अब बीजेपी विधायक नीरज बोरा को ही ले लीजिये। बोरा बाराबंकी में नवरात्रि में मूर्ति विसर्जन के दौरान भक्तों पर चली पुलिस की लाठी और पुलिस द्वारा मूर्ति को खंडित कर विसर्जित करने के बाद उपजे विवाद की जांच समिति के सदस्य के रूप में पहुंचें थे। बोरा ने यहां स्थानीय लोगों को संबोधित करते हुए शासन को ही दोषी करार दे दिया।

ये भी देखें: ये तो यूपी में ही हो सकता है जी! स्कूलों में दिला दी हिस्ट्रीशीटर को श्रद्धांजलि

बाराबंकी के बेलहरा कस्बे में विजयादशमी के दिन मूर्ति विसर्जन के रास्ते को लेकर स्थानीय लोगों और प्रशासन के बीच विवाद हो गया था।

आरोप था कि बाराबंकी के जिला प्रशासन ने जानबूझ कर मूर्तियों का रास्ता रोका। जब रास्ते को लेकर इलाके की सभी मूर्तियां रोक दी गयी। आधी रात को सोए हुए लोगों पर पुलिस ने बड़ी ही बेदर्दी से लाठियां बरसाई। और फिर रुकी हुई सभी मूर्तियों को एक छोटे से पिकअप वाहन में भरकर उनको जबरन विसर्जित करा दिया। इसमें कई मूर्तियों को क्षति भी हुई। घटना के बाद बाराबंकी सांसद प्रियंका सिंह रावत ने पूरे घटनाक्रम की शिकायत मुख्यमंत्री से की।

ये भी देखें: ठेंगे पर वीमेन सिक्योरिटी, KGMU में इलाज कराने आई महिला से छेड़छाड़

बीजेपी की जांच टीम ने आज मौके पर पहुंच अधिकारियों की जमकर क्लास ली। भाजपा सांसद प्रियंका सिंह रावत ने मौजूद सीओ, एडीएम, एसडीएम व एएसपी को जमकर खरी खोटी सुनाई। और इस पूरी घटना के लिए अधिकारियों को जिम्मेदार बताया।

नीरज बोरा ने कहा मुस्लिम समाज का विरोध नही था। प्रशासन के लोगों ने जबरदस्ती माहौल बनाया और शांति जबरन दूषित करने का भी काम किया है इस लिए और शासन और ज्यादा दोषी है । क्योंकि यहां एक जबरदस्ती बांटने का काम किया गया है इस लिए निश्चित रूप से हम इसकी शिकायत दर्ज करेंगे और जो दोषी है उनपर उचित कार्यवाई होगी वह हम करेंगे।

ये भी देखें: अरे मंत्री जी… ये क्या! राजधानी के इस मशहूर अस्पताल का इतना बुरा हाल?

जांच टीम के सदस्य व भाजपा एमएलए राम नरेश रावत ने कहा कि प्रशासनिक हठधर्मिता की वजह से मामला बढ़ा और भावनाएं आहत हुई। जांच टीम के सदस्यों द्वारा जांच करते समय सभी अधिकारियों के चेहरे पर हवाइयां उड़ रही थीं। जांच टीम अपनी रिपोर्ट भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्रनाथ पांडेय को सौंपेगी।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story