Top

अमित शाह बोले! पुलिस के राजनीतिकरण को सुधारने में वक्त लगेगा

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 31 July 2017 1:59 PM GMT

अमित शाह बोले! पुलिस के राजनीतिकरण को सुधारने में वक्त लगेगा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि उप्र में पुलिस के राजनीतिकरण को सुधारने में वक्त लगेगा।

लखनऊ स्थित पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में सोमवार को आयोजित प्रेसवार्ता में उठे सवाल 'योगी सरकार को उप्र की कानून-व्यवस्था सुधारने के मामले में कोई सुझाव दिया है', के जवाब में शाह ने कहा, "इस संबंध में सरकार को मुझे सलाह देने की आवश्यकता नहीं है। पिछली सरकारों में पुलिस और प्रशासन का जो राजनीतिकरण हो गया था, उसे सुधारने में वक्त लगेगा।"

ये भी देखें:गायों के लिए एंबुलेंस सेवा 10 जिलों में होगी शुरू, 10 गोशालाओं को मिलेंगे दस लाख

शाह ने कहा, "मैं प्रदेश की जनता को भरोसा दिलाता हूं कि उप्र में कानून-व्यवस्था ठीक होगी और प्रदेश में कानून का राज होगा।"

उन्होंने कहा, "योगी सरकार ने तीन माह में बहुत अच्छा कार्य किया है। योगी सरकार ने तीन महीने में केंद्र की योजनाओं को लागू किया, जनकल्याण की दर्जनों योजनाएं चलाई। जातिवाद परिवारवाद को समाप्त करने में भाजपा को सफलता मिली है।"

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के सवाल पर शाह ने कहा, "जब से विवादित ढांचा गिरा है, तबसे ही भाजपा का रुख साफ रहा है कि अयोध्या में राम मंदिर कानूनी तरीके या आपसी संवाद से मंदिर बनेगा। हमारे संकल्प पत्र में भी यह साफ रहा है।"

ये भी देखें: व्यापम के 17.56 लाख वाले कंप्यूटरों की खरीद का रिकार्ड गायब

मंदिर निर्माण मामले में कमेटी बनाए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा, "हम कोई कमेटी नहीं बनाएंगे।"

नए अध्यक्ष के सवाल पर शाह ने कहा कि नया प्रदेश अध्यक्ष तय होते ही केशव प्रसाद पूरा समय सरकार को देंगे।

अखिलेश यादव द्वारा रिकॉर्ड समय में आगरा से लखनऊ एक्सप्रेस वे बनाने और पूर्वाचल के लिए भाजपा सरकार द्वारा इससे भी कम समय में पूर्वाचल एक्सप्रेसवे बनाने की चुनौती पर भाजपा अध्यक्ष ने कहा, "अखिलेश के एक्सप्रेसवे पर कोई गाड़ी नहीं चल पा रही है। हम अखिलेश जैसे काम नहीं करना चाहते हैं। हम ऐसा एक्सप्रेस वे बनाना चाहते हैं, जिस पर गाड़ियां भी चलें।"

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story