Top

अखिलेश के करीबी नेता पर मामला दर्ज, नौकरी के नाम पर ठगे लाखों

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 30 Aug 2017 2:07 PM GMT

अखिलेश के करीबी नेता पर मामला दर्ज, नौकरी के नाम पर ठगे लाखों
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गोंडा: पूर्व सीएम अखिलेश यादव के करीबी और समाजवादी युवजन सभा के जिलाध्यक्ष सरफराज हुसैन सोनू‘की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं। कोतवाली देहात पुलिस ने सोनू और उनके साथी परमेश्वर के खिलाफ धोखाधड़ी व जान से मारने की धमकी का मुकदमा दर्ज किया है।

आरोप लगाया गया है कि इन दोनों ने सपा सरकार के दौरान नौकरी दिलाने के नाम पर साढ़े तीन लाख रुपये ठग लिये। पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि सपा नेता फरार है।

ये भी देखें:शेकतकर समिति की सिफारिशें मंजूर, 57000 सैनिकों की दोबारा तैनाती होगी

जानकारी के अनुसार कोतवाली देहात के धनौरी गांव के हजारी प्रसाद पुत्र अम्बिका प्रसाद ने तहरीर देकर मामले की रिपोर्ट दर्ज कराई है। जिसमें हजारी प्रसाद ने कहा है कि सपा नेता सरफराज हुसैन उर्फ सोनू पुत्र घसीटू व परमेश्वर पुत्र मुन्ना ने 15 दिसम्बर 2015 को यह कहकर साढ़े तीन लाख रुपये वसूल लिये थे कि हमारी सरकार है किसी विभाग में नौकरी लगवा देंगे। दो साल से अधिक समय बीत गया। उसकी नौकरी नहीं लगवाई बल्कि जब पैसे की मांग की तो उसे जान से मारने की धमकी दी गई। कोतवाली देहात पुलिस ने हजारी प्रसाद की तहरीर पर धारा 420, 406, 504, 506 के तहत मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस ने इस मामले में तेजी दिखाते हुए एक आरोपी परमेश्वर को गिरफ्तार भी कर लिया है और सपा नेता सोनू की सरगर्मी से तलाश कर रही है।

ये भी देखें:हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं की दबंगई, अस्पताल में किया हंगामा

सपा नेता सोनू सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और पूर्व मंत्री विनोद कुमार सिंह ‘’पंडित सिंह’‘के करीबी माने जाते हैं। सोनू कई वर्षों तक युवजन सभा के जिलाध्यक्ष रहे अरशद हुसैन के सगे भतीजे हैं और अखिलेश यादव अनेकों बार उनके जमुनिया बाग स्थित आवास पर आ चुके हैं।

ये भी देखें:अखिलेश का मोदी पर तंज, कहा- जैसा कुर्ते का रंग, वैसा ही नोट का रंग, लेकिन..

वहीँ सरफराज इसे विरोधियों की साजिश बता रहे हैं। कोतवाल सदानंद सिंह का कहना है कि आरोपी सपा नेता की तलाश की जा रही है शीघ्र ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story