Top

हाथ में माला और 'भाला' ले सरकार चला रहे योगी, अधिकारियों-मंत्रियों के उड़े होश

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 9 April 2017 3:10 PM GMT

हाथ में माला और भाला ले सरकार चला रहे योगी, अधिकारियों-मंत्रियों के उड़े होश
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि न सोऊंगा न सोने दूंगा। याद है न आपको ,अब उन्होंने ये कर के भी दिखा दिया है। योगी सुबह 3 बजे ही जाग जाते हैं, और देर रात तक काम करते हैं।

ये भी देखें : …….तो मोदी घास-फूस खाकर सिर्फ देश को आगे बढ़ाने के लिए काम कर रहे हैं

सीएम की कार्यशैली के साथ यूपी की सुस्त हो चुकी नौकरशाही कदमताल नहीं मिला पा रही है। यहाँ तक कि उनके मंत्री भी उनके साथ दौड़ते नजर आते हैं। आलम ये है कि कुछ मंत्री दिल्ली एनसीआर के रहने वाले हैं, उनके परिवार वहीँ रहते हैं। लेकिन वो अपने परिवार से भी नहीं मिल पाते, उनको डर रहता है कि कहीं वो लखनऊ से बाहर गए और योगी ने तलब कर लिया, तो खटिया खड़ी समझो।

सीएम 3 अप्रैल से विभागों की समीक्षा बैठकें कर रहे हैं, आधी रात तक प्रेजेंटेशन देख रहे हैं। दसियों सालों से मौज मस्ती करने वाले अधिकारियों के लिए योगी किसी खडूस प्रिंसिपल से कम नहीं है। आलम ये है कि सुबह नौ बजे ही ऑफिस में हलचल मच जाती है जो देर रात तक चलती है।

अधिकारियों के साथ एक मुसीबत ये भी है, कि सीएम पूरी तैयारी के साथ मीटिंग में आते हैं। उन्हें विभाग की सभी छोटी बड़ी बातें पता होती हैं। वो कोई भी बात अनुमान के आधार पर नहीं कहते। उनके सामने सभी की धड़कने तेज ही रहती है, कि क्या पता कब कह दें आप जा सकते हैं नमस्ते।

एक कैबिनेट मंत्री ने नाम न बताने की शर्त पर कहा, कि पहले मै अपने राज्यमंत्री को सीएम के साथ होने वाली बैठक में भेज देता था। लेकिन सीएम ने स्वयं आने के लिए कहा, और साथ ही ये भी निर्देश दे दिए कि न हो सके तो भी बता दीजिए कुछ और उपाय कर लेता हूँ। मुझे इशारा समझ आ गया और अब में बुलावे पर स्वयं जाता हूँ। लेकिन एक बात तो है सीएम ने सभी के पेंच कस दिए हैं।

सीएम ने योगी ने सभी अधिकारियों और मंत्रियों से बोल दिया है, कि कुछ भी हो 20 अप्रैल तक कोई भी कहीं नहीं जाएगा। ऐसा इसलिए क्योंकि 20 अप्रैल को फाइनल प्रेजेंटेशन जो होना है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story