Top

योगी के मंत्री का दावा: अयोध्या में राम का मंदिर बनेगा, इसे कोई रोक नहीं सकता

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 9 Oct 2018 7:16 AM GMT

योगी के मंत्री का दावा: अयोध्या में राम का मंदिर बनेगा, इसे कोई रोक नहीं सकता
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अमेठी: योगी सरकार के सिचाई मंत्री धर्मपाल सिंह ने अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण को लेकर बड़ा दावा किया है। अमेठी दौरे पर पहुंचे धर्मपाल सिंह ने पत्रकारों से कहा कि अयोध्या में राम का मंदिर था, और बनेगा। इसे कोई रोक नहीं सकता

राम मंदिर के पक्ष में निर्णय लेगा न्यायालय

अमेठी के जगदीशपुर डाक बंगले में पत्रकारों वार्ता के दौरान उन्होंंने कहा कि जब हम मंदिर की बात करते थे तो आप लोग कहते थे के भाजपा के पास और कोई मुद्दा नहीं है। विकास का मुद्दा नही है, किसान का मुद्दा नही है। भारतीय जनता पार्टी राम के नाम पर वोट मांगती है, ये विपक्षी लोग भी कहते थे। उन्होंंने कहा अयोध्या में राम का मंदिर बनेगा।

यह भी पढ़ें: ‘मेड इन अमेठी’ का निकला जिन्न, पोर्न स्टार मिया खलीफा’ ब्रांड अंबेसडर तो ‘राहुल’ बने CEO

सर्वोच्च न्यायालय का सम्मान हम करेंगे, मामला न्यायालय में चल रहा है, न्यायालय जो आदेश देगा हम उसे मानेंगे। उन्होंंने कहा कि हमे उम्मीद है कि न्यायालय राम मंदिर के पक्ष में निर्णय लेगा। दुनिया जानती है, हिन्दु, मुस्लिम, सिख और ईसाई सभी लोग जानते है कि भगवान राम अयोध्या में पैदा हुए थे।

ड्रोन कैमरे की निगरानी में कराया जाएगा सिल्ट सफाई का कार्य

मंत्री ने उन्होंने कहा कि हम यहां किसानों की समस्या के लिए आये है उनसे जुड़ी बात ही होगी। उन्होंने कहा कि नहरों में सिल्ट सफाई का कार्य इस बार ड्रोन कैमरे की निगरानी में कराया जाएगा, जिससे किसानों को पहले और बाद की स्थिति से अवगत कराया जाए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि टेल तक पानी पहुंचाए।

जल प्रबंधन समिति बनाने के निर्देश दिए। जिले में पानी के इस्तेमाल व बचाव के लिए जल प्रबंधन समिति बनाने का निर्देश दिया। इसके साथ ही नहरों का संचालन सही तरीके से हो इसके लिए तीन समितियां रजबहा, कुलाबा व अल्पिका बनने का आदेश दिया है। समितियों का चयन प्रजातांत्रिक तरीके से किया जाए।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story