रिलेशनशिप

प्यार एक ऐसा जज्बात है जिसमें पड़कर लोग बड़े-बड़े से सकंट को पार करने को तैयार रहते है। प्यार में पड़कर मनपसंद साथी से शादी करने के लिए कुछ भी कर गुजरने को तैयार रहते है। आज के समय में ज्यादातर लोग अपनी पसंद का जीवनसाथी चुनते है

रुद्र संहिता में शिव-पार्वती के विवाह कथा का वर्णन है साथ ही उसमें यह भी बताया गयै है कि पतिव्रता पत्नी को वैवाहिक नियमों का पालन जीवनपर्यंत करना चाहिए । इन नियमों का पालन खुद माता पार्वती ने भी किया थाय़ उन्हें ये नियम एक पतिव्रता ब्राह्मण पत्नी ने विदाई के समय मां पार्वती को बताया था।

जब बहन भाई की कलाई पर प्रेम का कच्चा सूत बांधती है हो तो प्यार की डोर और भी मजबूत हो जाती है और ये फेस्टिवल बन जाता है रक्षा बंधन, राखी। जिसमें बहन भाई सलामती के ले दुआ करती है और भाई से ताउम्र रक्षा का वचन लेती है। चाहे आम हो या खास, पर ये त्योहार हर किसी के लिए एक ही संदेश लेकर आता है।

हिंदू संस्कृति में रिति रिवाजों और धार्मिक मान्यताओं के अनुसार हर काम किए जाते हैं। जिससे वह काम सफल हो सके। हिन्दू धर्म में ऐसी कई रस्में होती है, जिन्हें सही तरह से निभाकर हर कोई अपने परिवार की खुशियों को आगे ले जाते हैं। भगवान के प्रति अटूट आस्था भक्तों में देखने को मिलती है।

भाई-बहन के पवित्र बंधन का पर्व रक्षा बंधन 15 अगस्त को है। इस पर्व का बहनों को खासतौर पर इंतजार रहता है। राखी सावन के पूर्णिमा को होती है। लेकिन बहने इसका इंतजार हर साल बेसब्री से करती है। इस दिन बहने भाइयों की कलाई पर राखी बांधती है

लखनऊ: क्या आपके रिलेशनशिप में एमोशनल सहानुभूति के साथ-साथ फिजिकल नजदीकियां भी कम हैं। मगर आप इसे दूर नहीं कर पा रहे। अगर हां, तो ये खबर आपके लिए हैं। दरअसल, कई बार काम या किसी और वजह से हम अपने पार्टनर को टाइम नहीं दे पाते हैं, जिसकी वजह से दूरियां काफी बढ़ जाती …

हिन्दू धर्म में तो पत्नी को पति की अद्धांगिनी कहते हैं। इसी के साथ पत्नी को घर की लक्ष्मी भी मानते हैं। महाभारत व गरुड़ पुराण में पत्नी की कुछ अच्छाई बताई गई हैं और जिनकी पत्नी में ये गुण होते हैं, उनके पति को भाग्यशाली मानते हैं।

कडलिंग हेल्दी और हैपी रिश्ते का संकेत होता है। इसलिए हमेशा एक दूसरे को प्यार से गले जरूर लगाया करिए। बोले तो एक-दूसरे को जादू की झप्पी जरूर दीजिए। यकीन मानिए रिश्ता काफी बेहतर हो जाएगा।

यूपी और आंध्र प्रदेश में आईपीसी की धारा 506 के अंतर्गत किए गए क्राइम को गैर जमानती बनाया गया है। ऐसे में अगर यूपी और आंध्र प्रदेश में किसी की पत्नी या प्रेमिका खुदकुशी की धमकी देती है, तो उसको कोर्ट से पहले जमानत नहीं मिलेगी।

कड़े श्रम के बाद किसी तरह की प्राप्ति भी अपने आप में अवर्णनीय सुख है। सुख रहना है तो सुखी रहने की वजह आपको खुद ढूंढनी होगी। कोई दूसरा व्यक्ति आपको तब तक सुखी नहीं रख सकता, जब तक आप खुद नहीं चाहते।