रिलेशनशिप

अगर आपका रिलेशन भी पकाऊ और लड़ाई से भरा है तो वेलेनटाइन वीक से पहले ब्रेक ले ले। ताकि तब तक आपका रिश्ता शायद सुधर जाए। उसके लिए कुछ टिप्स फॉलो कर सकते हैं।

बता दें कि यह रिलेशन शादी में नहीं बदलता है और लड़कियां अपनी मर्जी से कहीं भी शादी के लिए स्वतंत्र होती हैं।इसमें इंटिमेसी की एक लिमिट होती है।

यदि आप अपने पति के साथ कहीं बाहर घूमने जा रही हैं तो घर आते समय सबके लिए कुछ खाने का सामान लेकर आए। इससे सबको यही लगेगा कि आप को इस परिवार का ख्याल है। 

इस बात का ध्‍यान रखना चाहिए कि बालों को सूरज ढलने से पहले ही संवार लें। ऐसा करना शुभफलदायी और सौभाग्यवर्धक होता है। 

ख़ुद को जांच कर पता करें कि कहीं आप बहुत ज़्यादा नियंत्रण रखनेवाले अभिभावक तो नहीं। यदि ऐसा है तो अपने टीनएजर बच्चे के साथ घुलने-मिलने की पूरी कोशिश करें।

 कुंडली में कहीं भी सूर्य और चन्द्र की युति राहु- केतु से हो तो इस दोष का निर्माण होता है। चन्द्र ग्रहण योग होने पर जातक के स्वभाव में घबराहट  और  चिड़चिड़ापन होता  है।

रिश्‍ते की सफलता भी एक दूसरे के साथ किए जाने वाले व्‍यवहार पर निर्भर करती है। इसलिए लिव इन रिलेशनशिप में जाने से पहले इसके हर पहलू को अच्‍छी तरह जान-समझ लें।

पति पत्नी का रिश्ता ऐसा होता है जहां तकरार भी होती हैं प्यार भी। लेकिन कई बार देखा गया है कि कुछ पुरुषों की आदतें ऐसी होती हैं जिसके कारण पति-पत्नी के रिश्ते में दरार आने लगती हैं।

शिशु जब डाइरेक्शन बदलकर मां का दूध पीता है तो एक बार सिर का बाया हिस्सा और एक बार सिर का दाया हिस्सा मां की गोद से चिपकता है।

उन्हें देख कर प्यार से मुस्कुराना, अपने बच्चे के गाल पर किस करना आदि बच्चों के साथ की गई अभिभावकों की छोटी-छोटी ये क्रियाएं दर्शाती हैं कि ‘मुझे तुम्हारा खयाल है।’