शर्मनाक करतूत! INSTAGRAM पर सेक्स और यौन हिंसा की साजिश में स्कूली बच्चे

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म इंस्टाग्राम के चैट ग्रुप बॉयज लॉकर रूम (सोमवार को ट्विटर पर ट्रेंड चलने वाला) की जांच हुई। इस जांच में नई बातें निकलकर…

नई दिल्ली: सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म इंस्टाग्राम के चैट ग्रुप बॉयज लॉकर रूम (सोमवार को ट्विटर पर ट्रेंड चलने वाला) की जांच हुई। इस जांच में नई बातें निकलकर सामने आई हैं। साइबर सेल ने पता लगाया है कि ग्रुप में एक ही स्कूल के नहीं, बल्कि अलग-अलग स्कूल के लड़के मौजूद थे। और तो और अकेले दिल्ली के ही नहीं, इसमें एनसीआर एरिया के भी कई छात्र शामिल थे।

ये भी पढ़ें: शराब पीने की है छूट,लेकिन इसके बाद ये किया तो नप जाएंगे आप

कोई लड़का सभी लड़कों को नहीं जानता

साइबर सेल ने जब जांच शुरू की तो पता चला कि इसमें दिल्ली और नोएडा के कई स्कूलों के छात्र शामिल थे। हालांकि, इसमें कोई लड़का किसी भी दूसरे लड़के को नहीं जानता है। यह ग्रुप केवल एक-दूसरे से पहचान होते हुए उन्हें जोड़ते-जोड़ते ग्रुप में सभी शामिल हो गए। इसमें कोई भी एक लड़का ऐसा नहीं है कि बाकी सारे लड़कों को बाई फेस पहचानता हो।

ये भी पढ़ें: कोरोना Live: US में 24 घंटे में 2,333 लोगों की मौत, भारत में तेजी से बढ़ रहे मरीज

चार बालिग लड़के भी शामिल

साइबर सेल ने यह भी पता लगाया कि इस ग्रुप में केवल नाबालिग लड़के ही नहीं थे। चार ऐसे लड़के हैं, जिनकी उम्र 18 साल है, मतलब कि वे बालिग हैं। इन चारों से पूछताछ में पता चला कि एक नोएडा के किसी स्कूल का है।

ये भी पढ़ें: UAE में लगी भयानक आग, मचा हाहाकार, इलाके में रहते हैं ज्यादा भारतीय

कुछ इस तरह से हुआ कथित कारनामा

इंस्टाग्राम पर बने एक अकाउंट बॉयज लॉकर रूम पर कथित रूप से कुछ स्कूली छात्र अश्लील चैटिंग कर रहे थे। उन पर यह आरोप लगा है कि ग्रुप में लड़कियों की फोटो भेजकर गैंगरेप की बात की जा रही थी। ग्रुप में ज्यादातर बच्चे साउथ दिल्ली से हैं। दिल्ली पुलिस ने इसकी जांच साइबर को सौंप दिया था। साइबर सेल के अधिकारियों ने बताया है कि उन्हें इंस्टाग्राम पर ही नोटिस दी गई है लेकिन कोई जवाब नहीं आया है।

ये भी पढ़ें: दिल्लीः टिकारी कलां के पीवीसी मार्केट में लगी भीषण आग

ऐसे संपर्क कर रहा साइबर सेल

साइबर सेल यह भी बताया कि बच्चों की प्राइवेसी का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। जो जांच हो रही है, इसमें किसी भी बच्चे को सीधे फोन करने की बजाय उसके स्कूल या उसके परिवार में किसी को फोन करके उनके जरिये बच्चे से बात की जा रही है।

ये भी पढ़ें: केंद्र ने पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी बढ़ाई, आम आदमी पर बढ़ी कीमतों का असर नहीं

दोस्तों देश-दुनिया की और भी खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।