Top

जिसे CM ने बनाया लक्ष्मीबाई, रोते हुए बोली- अखिलेश की पुलिस की बेरुखी से हार गई हूं

जिस बहादुर लड़की को उसकी वीरता के लिए सीएम अखिलेश यादव ने रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार से नवाजा था आज वही लक्ष्मीबाई दबंगो की गुंडागर्दी से हार गई है और सीएम अखिलेश से अपनी हार का दुखड़ा रो रही है।

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 1 Dec 2016 9:25 PM GMT

जिसे CM ने बनाया लक्ष्मीबाई, रोते हुए बोली- अखिलेश की पुलिस की बेरुखी से हार गई हूं
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

akhilesh

आगरा: जिस बहादुर लड़की को उसकी वीरता के लिए सीएम अखिलेश यादव ने रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार से नवाजा था आज वही लक्ष्मीबाई दबंगो की गुंडागर्दी से हार गई है और सीएम अखिलेश से अपनी हार का दुखड़ा रो रही है। यही नहीं बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार ने भी इस बहादुर लड़की की प्रशंसा कर उसे महिला दिवस के उपलक्ष्य में अवार्ड दिया था। लेकिन अब सीएम अखिलेश की पुलिस की बेरुखी ने उसे को तोड़ कर रख दिया है और वह सीएम अखिलेश की लक्ष्मीबाई के हार जाने की बात कह रही है।

दरअसल सीएम द्वारा लक्ष्मीबाई पुरस्कार से सम्मानित आगरा की रहने वाली नाजिया को उसके दबंग पड़ोसियों ने दीवार के विवाद में गुरुवार को जमकर पिटाई कर दी और जान से मारने की धमकी दी है। बता दें कि मंटोला थाना अंतर्गत मीरा हुसैनी निवासी नाजिया पुत्री मो कदीर ने अगस्त महीने में एक बच्ची को अगवा करने वाले बदमाशों से लोहा लेकर बच्ची की जान बचाई थी।

इसलिए हार गई है नाजिया

नाजिया के अनुसार, पड़ोसी 40 साल से इलाके में जुए और सट्टा चला रहे थे, जिसको उसने बंद करवा दिया था।

तब से ही उसकी रंजिश चली आ रही है। ऐसे में उसने अपनी छत पर दीवार उठवा दी। इस पर दूसरे पक्ष ने अपनी दीवार होने का दावा कर पुलिस से शिकायत कर दी।

पुलिस भी बिना कुछ जांच-पड़ताल किए दीवार गिरा देने का दबाव बनाने लगी। इसके बाद ये मामला एडीएम सिटी तक जा पहुंचा। मामले की जांच हुई तो नाजिया सही पाई गई।

शुक्रवार को मामला निपटाने की बात हुई थी, लेकिन गुरुवार को ही दूसरे पक्ष के लोग मजदूर लगाकर दीवार गिराने लगे।

नाजिया ने कहा कि इस पर उसने और उसकी मां शहनाज ने इसका विरोध किया तो दूसरे पक्ष के लक्ष्मी, धन्नू, मोहिनी उर्फ़ भानुमति और दो अन्य लोगों ने उसपर हमला बोल दिया।

नाजिया ने बताया कि उन्होंने उसकी और उसकी मां की पिटाई की और मां की अंगूठी और नथनी भी छीन ले गए।

नाजिया ने पुलिस को सूचना दी तो थाना मंटोला इंचार्ज शिव कुमार मौके पर आए। इसके बाद पुलिस ने पूरे परिवार को मेडिकल करवाने और केस दर्ज कराने की बात कही है।

पहले भी नाजिया सीएम से कर चुकी है शिकायत

इससे पहले जब दबंगो ने उससे मारपीट की थी तो उसने सीएम अखिलेश को ट्वीट कर मदद मांगी थी और सीएम अखिलेश के आदेश पर पूरा प्रशासन कार्रवाई में जुट गया था और केंद्रीय महिला आयोग की सदस्य भी आकर नाजिया से मिली थी और सीएम अखिलेश यादव से शिकायत की बात कही थी।

नाजिया ने कहा कि कार्रवाई करने के बजाए पुलिस उल्टा उन्हें डराती है। सिपाही कहते हैं, आपको अच्छा सम्मान मिला, लेकिन हमारी तो बुरी हालत कर दी है। अधिकारी कहते हैं, आराम से पढ़ो, चक्कर में न पड़ो। नाजिया ने कि पुलिस हमेशा की तरह मुकदमा लिखवा लो कह कर इतिश्री करने पर आमादा है। पुलिस कोई कार्रवाई नहीं करती है।

क्या कहना है पुलिस का ?

-इस संबंध में थाना इंचार्ज मंटोला शिव कुमार शर्मा ने बताया कि दीवार बनाने को लेकर विवाद है।

-दूसरी पार्टी फरार हो गई है।

-मुकदमा लिख कर दबिश दी जा रही है।

-उन्होंने कहा कि हम खुद मौके पर पहुंचे थे और कार्यवाही की जा रही है।

आगे की स्लाइड्स में देखिए और फोटोज ...

agra

up

akshay

naziya

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story