गैलेक्सी नोट 7 को वापस लेगी सैमसंग कंपनी, मार्केट में आया था एक महीने पहले

Published by September 2, 2016 | 2:57 pm
samsung galaxy note 7

नई दिल्ली: पूरी दुनिया में अपने स्मार्टफोन के लिए जानी जाने वाली कंपनी जल्द ही मार्केट में लॉन्च हुए गैलेक्सी नोट 7 को वापस लेगी। यह फोन अभी हाल ही में एक महीने पहले मार्केट में उतारा गया था। मीडिया खबरों के अनुसार इस फोन में अचानक चिंगारी की प्रॉब्लम की शिकायतों के चलते कंपनी ने यह कदम उठाया है। लेकिन अभी कंपनी की ओर से इसकी कोई पुष्टि नहीं की गई है।

इंडिया में यह 11 अगस्त को लॉन्च किया गया था। यह फोन ब्लू कोरल, गोल्ड प्लेटिनम, सिल्वर टाइटेनियम और ब्लैक ऑनिक्स कलर वेरिएंट में उपलब्ध है। इंडिया में इसकी कीमत करीब 60 हजार रुपए है। बता दें कि सैमसंग के स्मार्टफोन कस्टमर्स पूरी दुनिया में हैं और इनकी बिक्री भी काफी ज्यादा है। ऐसे में अचानक से फोन को वापस लेने से कंपनी को बहुत बड़ा झटका लग सकता है। कहा जा रहा है कि सैमसंग के एक महीने पहले लॉन्च हुए इस फोन की बैट्री में चार्जिंग के दौरान आग लगने की शिकायतें आने लगी।

आगे की स्लाइड में जानिए किसने किया यह खुलासा

दक्षिण कोरिया की एक न्यूज एजेंसी योनहैप के अनुसार सैमसंग ने हाल में अपनी जांच के दौरान नोट-7 की बैटरी में कई खामियां पाई है। जबकि सैमसंग ने स्टेटमेंट जारी करके कहा है कि हम गैलेक्सी नोट-7 को लेकर अपने पार्टनर के साथ बातचीत कर रहे हैं। हम अपने प्रो़डक्ट की क्वालिटी को लेकर कोई कॉम्प्रोमाइज नहीं करेंगे।

यह हैं गैलेक्सी नोट-7 के बड़े फीचर्स

S पेन: सैमसंग गैलेक्सी नोट 7 को सबसे ज्यादा S पेन ख़ास बनता है। यह काफी स्मूथ है और वॉटर रेजिस्टेंट भी है। अगर आप फोन पर किसी भी वर्ड को S पेन से टच करेंगे, तो आपको उसका ट्रांसलेशन ऑटोमेटिकली मिल जाएगा। इसके लिए आपको अलग से किसी विंडो को खोलने की जरूरत नहीं है।

कैमरा: इसमें गैलेक्सी S7 वाला ही कैमरा लगा है। मार्केट में उपलब्ध स्मार्टफोन में से यह सबसे अच्छे कैमरे वाला फोन है। इस फोन को साथ में रखने के बाद लोग अपना DSLR कैमरा मिस नहीं करेंगे।

डिस्प्ले: नोट 7 का डिस्प्ले काफी है। यह पहला स्मार्टफोन है, जो HDR विडियो को सपोर्ट करता है।

वॉटर रेजिस्टेंस: यह क्वालिटी इस फोण की बड़ी खासियतों में से के है। फोन वॉटर रेजिस्टेंट है मतलब पानी में भीगने पर भी खराब नहीं होगा। बारिश में भीगना हो तो यूजर्स को फोन के कारण अपना मन नहीं मारना पड़ेगा।