Top

....और अब बीसीसीआई ने टीम मैनेजर के लिए मंगाए आवेदन

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 15 July 2017 1:20 PM GMT

....और अब बीसीसीआई ने टीम मैनेजर के लिए मंगाए आवेदन
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुंबई : कोचिंग स्टाफ को लेकर जारी संशय के बीच भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने शनिवार को टीम मैनेजर के लिए आवेदन मांगाए हैं। टीम मैनेजर के लिए आवेदन देने की अंतिम तिथी 21 जुलाई रखी गई है।

बीसीसीआई की क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) ने हाल ही में रवि शास्त्री को भारतीय टीम का मुख्य कोच चुना है। वहीं राहुल द्रविड़ को विदेशी दौरों (टेस्ट) पर टीम का बल्लेबाजी सलाहकार और पूर्व तेज गेंदबाज जहीर खान को गेंदबाजी सलाहकार चुना है।

बोर्ड ने अपनी वेबसाइट पर टीम मैनेजर पद के लिए विज्ञापन जारी करते हुए लिखा है, "भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई)भारतीय सीनियर पुरुष टीम के मैनेजर पद के लिए आवेदन जारी कर रही। इस पद के लिए रूचि रखने वाले उम्मीदवार अपना आवेदन दे सकते हैं।"

बयान में लिखा, "टीम मैनेजर का कार्यकाल कम से कम एक साल का होगा।"

बोर्ड ने टीम मैनेजर पद के लिए जो जरूरी शर्ते रखी हैं उनमें से एक अच्छे स्तर पर क्रिकेट खेलना, जैसे प्रथम श्रेणी या अंतर्राष्ट्रीय स्तर शामिल है।

बयान के मुताबिक, "बीसीसीआई से संबंद्ध राज्यों की टीम के मैनेजर रहे, राष्ट्रीय टीम के मैनेजर रहे, प्रथम श्रेणी या अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेले, किसी भी सरकारी या गैरसरकारी संस्था में 10 साल का अनुभव रखने वाले शख्स को प्राथमिकता दी जाएगी।"

बोर्ड साथ ही चाहता है कि उम्मीदवार की आयु 60 साल से कम हो ताकि वह व्यस्त अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रम के साथ तालमेल बिठा सके।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story