बियांका बनीं यूएस ओपन की नई क्वीन, फाइनल में सेरेना को हराया

बियांका बनीं यूएस ओपन की नई क्वीन, फाइनल में सेरेना को हराया

अंशुमान तिवारी
अंशुमान तिवारी

कनाडा की 19 साल की खिलाड़ी बियांका वैनेसा एंड्रेस्कू ने इस बार के यूएस ओपन में अपने शानदार प्रदर्शन से सबका दिल जीत लिया। यूएस ओपन के फाइनल मुकाबले में उन्होंने दिग्गज खिलाड़ी सेरेना विलियम्स को हराकर खिताब अपने नाम कर लिया। बियांका का पहला ग्रैंड स्लैम टाइटल है। फाइनल में उन्होंने अमेरिका की 37 वर्षीया सरीना को 6-3, 7-5 से हराकर यह उपलब्धि हासिल की। इस जीत के साथ ही बियांका ग्रैंडस्लैम जीतने वाली दूसरी सबसे कम उम्र की विजेता बन गई हैं।

फाइनल जीतने वाली कनाडा की पहली खिलाड़ी

पिछले साल क्वॉलिफाइंग के पहले दौर में ही बाहर हो जाने वाली बियांका ने इस बार अपने शानदार खेल से सेरेना को चौंका दिया। सेरेना लगातार दूसरे साल यूएस ओपन का फाइनल मुकाबला हार गयीं। पिछले साल भी वे फाइनल तक पहुंचीं थी मगर फाइनल में उन्हें जापान की नाओमी ओसाका ने हरा दिया था।

यह भी पढ़ें: खतरनाक बॉडीगार्ड! बिना इनके एक दिन नहीं चल सकते ये बॉलीवुड स्टार्स

बियांका के खाते में एक बड़ी उपलब्धि यह रही कि वे ग्रैंड स्लैम जीतने वालीं पहली कनाडाई खिलाड़ी बन गईं। इसके साथ ही वह यूएस ओपन जीतने वालीं दूसरी टीनेजर भी बन गई हैं। उनसे पहले रूस की मारिया शारापोवा ने यह कमाल दिखाया था। शारापोवा ने 2004 में 17 साल की उम्र में विंबलडन जीतकर सनसनी फैला दी थी।

दसवीं बार फाइनल में पहुंचीं थीं सेरेना

बियांका एंड्रेस्कू ने सेमीफाइनल में एक बेहद कड़े मुकाबले में बेलिंडा बेनसिच को मात देकर यूएस ओपन के महिला एकल वर्ग के फाइनल में प्रवेश किया था। बियांका ने दो सेट तक चले रोमांचक मुकाबले में स्विट्जरलैंड की बेनसिच को 7-6 (7-3), 7-5 से मात दी थी।

यह भी पढ़ें: प्रश्नपत्र में गंदा सवाल! मुस्लिम और दलित को लेकर अब मचा बवाल

दूसरी ओर सेरेना विलियम्स ने सेमीफाइनल में यूक्रेन की एलिना स्वितोलिना को सीधे सेटों में 6-3, 6-1 से मात देकर 10वीं बार इस प्रतियोगिता के फाइनल में जगह बनाई थी। बियांका को फाइनल मुकाबले में सेमीफाइनल जैसी कड़ी मेहनत तो नहीं करनी पड़ी मगर सेरेना ने उन्हें टक्कर जरूर दी। बियांका ने अपने शानदार खेल से सेरेना को चौंका दिया।

बियांका बोलीं-पूरा हुआ सपना

यूएस ओपन जीतने के बाद बियांका ने कहा कि यह साल उनके लिए बहुत अच्छा रहा है। उनका एक बड़ा सपना पूरा हो गया है। मैंने यहां तक पहुंचने के लिए कड़ी मेहनत की है। उन्होंने सेरेना को महान खिलाड़ी बताते हुए कहा कि उनके खिलाफ इतने बड़े मंच पर खेलना गर्व की बात है।

यह भी पढ़ें: सास को भून दिया गोलियों से, खुद के साथ किया ऐसा कि जानकार हो जायेंगे हैरान

पूरे टूर्नामेंट में आत्मविश्वास के साथ खेलने वाली बियांका ने कहा कि मैं मुकाबला जीतकर काफी खुश हूं। हालांकि यह बेशक आसान नहीं था, खासतौर पर जब वे दूसरे सेट में वापसी की कोशिश कर रही थी। वे चैंपियन हैं और चैंपियन यही करते भी हैं। ऐसा उन्होंने अपने करियर में अनेक बार किया है। मैं खुद को पूरी तरह से काबू में रखने की कोशिश करती रही। मुझे लगता है कि मैंने बढिय़ा काम किया।

फाइनल में लगातार दूसरी हार सेरेना निराश

उधर, बड़े टूर्नामेंट के फाइनल में लगातार चौथी हार के बाद सेरेना निराश दिखीं। 23 सिंगल्स ग्रैंड स्लैम जीत चुकीं सरेना ने मैच के बाद प्रशंसकों का आभार जताते हुए कहा कि बियांका ने शानदार खेल दिखाया। सेरेना ने कहा कि मैंने मुकाबले में बने रहने के लिए काफी मेहनत की और मुझे प्रशंसकों का काफी समर्थन भी मिला।

यह भी पढ़ें: 1 करोड़ के मलानी! अमित शाह से इस माफ़िया डॉन तक का लड़ा केस

इससे मुझे बेहतर खेलने और टक्कर देने में मदद मिली। उन्होंने फाइनल में कमाल का खेल दिखाने वाली बियांका को बधाई दी। अपने घर में सेरेना 24वें ग्रैंडस्लैम की कोशिश में जुटी थी ताकि वह मारग्रेट कोर्ट के रिकार्ड की बराबरी कर लें, लेकिन वह कामयाब नहीं हो पाईं।