Top

जिसे हराया उसी के शैंपेन से मनाया जीत का जश्न

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 25 Jun 2018 10:20 AM GMT

जिसे हराया उसी के शैंपेन से मनाया जीत का जश्न
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: 25 जून ऐसी तारीख जो भारतीयों के लिए काफी अहम है। 25 जून 1975 को इंदिरा गांधी ने देश में आपातकाल लगाया था तो भारतीय खेलों के इतिहास में 25 जून 1983 कभी न भूलने वाला दिन बना।

यह भी पढ़ें: इलाहबाद हाईकोर्ट का एक फैसला 43 साल पहले बना था इमरजेंसी का कारण

43 साल पहले देश में आपातकाल लगा तो 35 साल पहले आज ही के दिन भारत लॉर्ड्स में क्रिकेट विश्व कप का चैंपियन बना। पूरे टूर्नामेंट में भारतीय टीम ने उम्मीदों के विपरीत चौंकाने वाला प्रदर्शन कर विश्व चैंपियन बनकर दिखाया।

पहले दोनों विश्वकप जीत चुकी थी वेस्टइंडीज की टीम

वेस्टइंडीज की टीम पहले दोनों विश्वकप जीत चुकी थी। वो हार जायेगी ये तो किसी ने सपने में भी नहीं सोचा था। क्लाइव लॉयड की इंडीज टीम ने 1975 और 1979 के बाद 1983 का वर्ल्ड कप फाइनल भी जीतने की पूरी तैयारी पूरी कर ली थी, लेकिन हुआ इसके उलट।

भारत ने फाइनल में मात्र 183 रन बनाए थे। इनिंग्स ब्रेक के दौरान वेस्टइंडीज टीम प्रबंधन अपनी जीत तय मानते हुए ढेर सारी शैंपेन मंगवा ली थी। वर्ल्ड कप जीतने के बाद कप्तान कपिल देव इंडीज के ड्रेसिंग रूम खिलाड़ियों से हाथ मिलाने पहुंचे तो वहां सन्नाटा पसरा हुआ था।

कपिल बताते हैं कि वहां शैंपेन की बोतलें दिखाई दे रही थीं। उन्होंने लॉयड से पूछा, 'क्या मैं आपके कमरे से शैंपेन की कुछ बोतलें ले जा सकता हूं? हमने एक भी नहीं मंगवाई है। क्लाइव ने कपिल को बस इशारा भर किया और जाकर एक कोने में बैठ गए। कपिल और मोहिंदर अमरनाथ ने बोतलें उठाईं निकल पड़े जश्न मनाने।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story