Top

फीफा विश्व कप : सेनेगल की 2002 के प्रदर्शन को दोहराने की कोशिश

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 12 Jun 2018 10:09 AM GMT

फीफा विश्व कप : सेनेगल की 2002 के प्रदर्शन को दोहराने की कोशिश
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मॉस्को: पोलैंड के खिलाफ 19 जून को फीफा विश्व कप की शुरुआत करने वाली सेनेगल फुटबाल टीम का लक्ष्य 2002 के उस प्रदर्शन को दोहराना होगा, जिसमें वह क्वार्टर फाइनल तक का रास्ता तय कर पाई थी। साल 2002 के विश्व कप में सेनेगल ने अच्छी प्रदर्शन किया था, लेकिन वह सेमीफाइनल तक नहीं पहुंच पाई थी।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, सेनेगल ने अपनी टीम में अफ्रीका के प्रतिभाओं को शामिल किया। इसमें एल हेदजी डियोफ, एमजे फाये, सालिफ डियाओ और हेनरी कमारा जैसे खिलाड़ी शामिल हैं।

यह भी पढ़ें: अपने सुनील छेत्री ने जो कहा उसके बाद भी आत्मा ना जागे तो….सोने ही दो

सेनेगल ने छह क्वालीफाइंग मैचों में 10 गोल दागते हुए रूस में 14 जून से शुरू हो रहे विश्व कप टूर्नामेंट में स्थान हासिल किया था। ऐसे में मुख्य कोच सिसे ने 23 सदस्यीय फाइनल टीम में आठ फारवर्ड खिलाड़ियों को शामिल किया है।

ऐसे में फारवर्ड पंक्ति का नेतृत्व इस सीजन में लीवरपूल के लिए 20 गोल दागने वाले सादियो माने और मोउसा कोनाटे करेंगे।

बोस्निया-हर्जेगोविना और लक्जमबर्ग के साथ खेले गए ड्रॉ मैच से यह साफ जाहिर हो रहा है कि टीम को सही फॉर्मूले की तलाश है। यह बात साफ है कि अगर सेनेगल की टीम अंतिम-16 दौर में स्थान हासिल नहीं कर पाई, तो इसमें उसका डिफेंस जिम्मेदार नहीं होगा।

--आईएएनएस

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story