Top

डोपिंग का डंक: केन्या की ओलम्पिक विजेता सुमगोंग पर लगा 4 साल का प्रतिबंध

aman

amanBy aman

Published on 7 Nov 2017 10:57 PM GMT

डोपिंग का डंक: केन्या की ओलम्पिक विजेता सुमगोंग पर लगा 4 साल का प्रतिबंध
X
डोपिंग का डंक: केन्या की ओलम्पिक विजेता सुमगोंग पर लगा 4 साल का प्रतिबंध
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नैरोबी: केन्या की महिला धावक और ओलम्पिक पदक विजेता जेमीमाह जेलागट सुमगोंग पर केन्या डोपिंग रोधी एजेंसी (एडीएके) ने अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंट में हिस्सा लेने से चार साल का प्रतिबंध लगा दिया है। सुमगोंग केन्या की ओर से मैराथन जीतने वाली पहली महिला हैं। उन्होंने रियो ओलम्पिक 2016 में यह खिताब जीता था। उनकी डोप टेस्ट में सकारात्मक परिणाम के बाद ईपीओ के लिए की गई अपील को खेल अदालत ने खारिज कर दिया है और उनपर तीन अप्रैल से प्रतिबंध लगाया है।

28 फरवरी, 2017 को की गई जांच में उनके नमूने में प्रतिबंधित पदार्थ के अंश पाए जाने के बाद उनके बी-सैम्पल की जांच के लंबित होने के कारण केन्या की इस स्टार को अप्रैल में लंदन मैराथन में अपना खिताब बचाने से महरूम रख दिया गया था।

कर सकती हैं प्रतिबंध के खिलाफ अपील

बयान में कहा गया है, 'अयोग्यता का समय (दोनों स्थानीय और अंतर्राष्ट्रीय स्पर्धाओं में) खिलाड़ी के लिए चार साल का रहेगा जो तीन अप्रैल से लागू होगा। यह सजा एडीआर के अनुच्छेद 10.2.1 और 10.11.2 के आधार पर दी गई है।' हालांकि, सुमगोंग को प्रतिबंध के खिलाफ अपील करने का हक है। बयान में कहा गया है, 'वाडा के आचार संहिता के नियम 42 के अनुच्छेद 13.2.1 के तहत उन्होंने प्रतिबंध के खिलाफ अपील करने का अधिकार है।'

पांच धावक हो चुके हैं प्रतिबंधित

पिछले महीने केन्या के पांच धावक शेइयस चेपकोस्गेई, फ्लोरेंस चेपसोई, जोसेफ कारियुकी गिताऊ, शारोन नडिंडा मुली और केन किरुई को भी एडीएके ने डोपिंग के चलते प्रतिबंधित कर दिया था।

आईएएनएस

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story