Top

30 साल पहले वर्ल्ड कप में मिली हार का बदला लेगी कोहली ब्रिगेड !

भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच रविवार (17 सितंबर) से शुरू हो रहे पांच एकदिवसीय क्रिकेट मैच के पहले मैच पर सभी की निगाहें लगी हैं कि क्या मेजबान 30 साल पहले मिले हार के जख्म को भर पाएगा।

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 16 Sep 2017 8:09 AM GMT

30 साल पहले वर्ल्ड कप में मिली हार का बदला लेगी कोहली ब्रिगेड !
X
30 साल पहले वर्ल्ड कप में मिली हार का बदला लेगी कोहली ब्रिगेड !
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

चेन्नई: भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच रविवार (17 सितंबर) से शुरू हो रहे पांच एकदिवसीय क्रिकेट मैच के पहले मैच पर सभी की निगाहें लगी हैं कि क्या मेजबान 30 साल पहले मिले हार के जख्म को भर पाएगा। भारत 30 साल पहले इस मैदान पर मिली हार को भूला नहीं है। 30 साल पहले 09 अक्टूबर 1987 का दिन। चेन्नई के चेपॉक स्टेडियम में एक तरफ वर्ल्ड चैंपियन कपिल देव की टीम थी तो दूसरी ओर वर्ल्ड चैंपियन बनने की ओर अग्रसर एलन बॉर्डर की टीम। ऑस्ट्रेलिया के ओपनरों डेविड बून (49) और ज्यॉफ मार्श (110) की बदौलत मेहमान टीम ने 50 ओवर में छह विकेट पर 270 रन बनाए। भारतीय टीम को ओपनर सुनील गावस्कर (37), कृष्णामचारी श्रीकांत (70) और अपना पहला मैच खेलने उतरे नवजोत सिंह सिद्धू (73) ने शानदार शुरुआत दिलाई, लेकिन वर्ल्ड चैंपियन टीम 49.5 ओवर में 269 रनों पर ऑल आउट हो गई। यह रिलायंस वर्ल्ड कप का तीसरा मुकाबला था और बाद में ऑस्ट्रेलियाई टीम ने इसका खिताब जीतकर पहली बार वर्ल्ड चैंपियन बनने का गौरव पाया था।

अब 30 साल बाद रविवार को पहली बार चेपॉक के मैदान पर भारत-ऑस्ट्रेलिया सीमित ओवरों के मुकाबले में आमने-सामने होंगे। निश्चित तौर पर 30 साल बाद चेपॉक में होने वाले मुकाबले में धमाल मचने वाला है, क्योंकि अब भारतीय टीम उस समय की अपेक्षा मजबूत है, जबकि कंगारू थोड़ा कमजोर है। ऑस्ट्रेलिया ने पिछले चार साल में भारत में भारत के खिलाफ कोई वनडे नहीं जीता है, जबकि उसको यहां कोई वनडे सीरीज जीते हुए सात साल बीत चुके हैं।

यह भी पढ़ें .... वो वापस आ रहा है, वेस्टइंडीज के लिए बनेगा खतरे की घंटी

बाएं हाथ के ओपनर शिखर धवन पत्नी की तबीयत खराब होने की वजह से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ महत्वपूर्ण सीरीज के शुरुआती तीन वनडे नहीं खेल पाएंगे, लेकिन यह भारत के पूर्व उपकप्तान अजिंक्य रहाणे के लिए मौके की तरह है। शुरुआत में भारतीय कप्तान विराट कोहली, रहाणे का काफी समर्थन करते थे, लेकिन अब सीमित ओवरों के क्रिकेट में वह रोहित शर्मा और धवन को ओपनिंग में उतारने के साथ दायें हाथ के बल्लेबाज केएल राहुल को चौथे नंबर पर उतारते हैं। वह खुद तीसरे नंबर पर उतरते हैं। इस कारण पिछली कुछ सीरीज से रहाणे को अधिकांश मैचों में बाहर ही बैठना पड़ा है, लेकिन धवन के बाहर जाने से उन्हें चेन्नई में रविवार से शुरू होने वाली भारत-ऑस्ट्रेलिया सीरीज में ओपनर के तौर पर मौका मिल सकता है।

उप कप्तान रोहित शर्मा ने भी इसके संकेत दिए हैं कि वह और रहाणे ओपनिंग में उतर सकते हैं। रहाणे ने वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज में ओपनिंग की थी और एक शतक और तीन अर्धशतक के साथ 'मैन ऑफ द सीरीज' बने थे। इसके बाद श्रीलंका के खिलाफ पांच वनडे मैचों की सीरीज में उन्हें चार मैचों में मौका नहीं मिला। धवन श्रीलंका के खिलाफ पांचवें वनडे से बाहर थे और रहाणे को ओपनिंग की जिम्मेदारी दी गई थी। हालांकि, वह इस मैच में फ्लॉप रहे थे। विराट की सुई राहुल, रहाणे और मनीष पांडे के इर्द-गिर्द घूमेगी। अगर रहाणे ओपनिंग करते हैं तो राहुल या पांडे में से कोई चौथे नंबर पर उतरेगा। अगर राहुल ओपनिंग करते हैं तो रहाणे या पांडे में से कोई चौथे नंबर पर उतरेगा।

यह भी पढ़ें .... सहवाग का बयान- BCCI में नहीं थी सेटिंग, इस वजह से नहीं बन सका कोच

अगर ऑस्ट्रेलिया टीम की बात करें तो उसने चोटिल ओपनर एरोन फिंच की जगह बल्लेबाज पीटर हैंड्सकोंब को कवर के तौर पर बुला लिया है। वह रविवार से पहले टीम से जुड़ जाएंगे। दो दिन पहले ट्रेनिंग के दौरान फिंच की पिंडली की चोट फिर से उभर गई थी। स्कैन में पता चला कि वह पांच मैचों की सीरीज के शुरुआती मैचों में नहीं खेल पाएंगे। पहले लग रहा था कि फिंच चोट की वजह से पूरे दौरे पर नहीं खेल पाएंगे, लेकिन अब यह स्टार ओपनर टीम में बना रहेगा और सीरीज के अंतिम हिस्से में खेलेगा। हैंड्सकोंब बांग्लादेश के टेस्ट दौरे के बाद मेलबर्न लौट गए थे। वह शनिवार को भारत के लिए रवाना होंगे और सीरीज के शुरुआती मैच में चयन के लिए उपलब्ध रहेंगे। फिंच को बोर्ड एकादश के खिलाफ एकमात्र अभ्यास मैच के लिए आराम दिया गया था। उन्हें यह चोट छह हफ्ते पहले इंग्लैंड में सरे के लिए खेलते हुए लगी थी। ऑस्ट्रेलियाई टीम के फिजियो एलेक्स काउंटोरिस ने कहा कि हमें लगता है कि चोट इतनी गंभीर नहीं है। हम उनकी चोट का आकलन करेंगे।

ऑस्ट्रेलिया के कोच डेविड सेकर का कहना है कि टीम प्रबंधन भारत के खिलाफ सीमित ओवरों की सीरीज में पैट कमिंस की व्यस्तता पर करीबी नजर रखेगा। उन्होंने कहा कि अभी हम उसे सभी मैचों में उतारने की रणनीति बना रहे हैं। हम कमिंस की व्यस्तता से अवगत हैं, लेकिन हम यह भी जानते हैं कि यह महत्वपूर्ण सीरीज है। यह ऑस्ट्रेलिया बनाम भारत है और इससे बड़ी कोई सीरीज नहीं हो सकती। ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाजी कोच इस दौरे में डेरेन लेहमैन की अनुपस्थिति में मुख्य कोच की भूमिका निभा रहे हैं। अभी के हिसाब से टीम का 'प्लान ए' कमिंस को भारत के खिलाफ सभी मैचों में खिलाना है। मिशेल स्टार्क, जोश हेजलवुड और जेम्स पैटिंसन के चोटिल होने के कारण बाहर होने से कमिंस ऑस्ट्रेलिया के कम अनुभवी आक्रमण की अगुआई करेंगे।

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story