Top

सिंधू, साक्षी, दीपा और जीतू राय बने खेल 'रत्न', राष्ट्रपति प्रणब ने अवॉर्ड से नवाजा

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 29 Aug 2016 7:18 AM GMT

सिंधू, साक्षी, दीपा और जीतू राय बने खेल रत्न, राष्ट्रपति प्रणब ने अवॉर्ड से नवाजा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: नेशनल स्पोर्ट्स डे के मौके पर सोमवार को राष्ट्रपति भवन में प्रणब मुखर्जी खिलाड़ियों को खेल रत्न, अर्जुन अवॉर्ड और कोचों को द्रोणाचार्य अवॉर्ड से सम्मानित किया। उन्होंने रियो ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीतने वाली पीवी सिंधु, कांस्य पदक जीतने वाली रेसलर साक्षी मलिक, फाइनल में जगह बनाकर इतिहास रचने वाली दीपा कर्माकर और शूटर जीतू राय को देश के सबसे बड़े खेल सम्मान राजीव गांधी खेल रत्न अवॉर्ड से नवाजा गया।

ललिता बाबर, रानी रामपाल को मिला अर्जुन अवाॅर्ड

रियो ओलंपिक के फाइनल में पहुंचने वाली लॉन्ग डिस्टेंस रनर ललिता बाबर, क्रिकेटर अजिंक्य रहाणे, पुरुष हॉकी खिलाड़ी वीआर रघुनाथ, महिला हॉकी खिलाड़ी रानी रामपाल और मुक्केबाज शिवा थापा को अर्जुन अवाॅर्ड से सम्मानित किया गया।

छह कोच को मिला द्रोणाचार्य अवॉर्ड

इस साल छह कोच को द्रोणाचार्य अवार्ड दिया गया। इसमें दीपा कर्माकर के कोच बिश्वेस्वर नंदी, विराट कोहली के कोच राजकुमार शर्मा भी शामिल हैं। इनके अलावा एथलेटिक्स कोच नागापुरी रमेश, मुक्केबाजी कोच सागर मल ध्याल और स्वीमिंग कोच प्रदीप कुमार और कुश्ती कोच महाबीर सिंह को द्रोणाचार्य अवॉर्ड दिया गया।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 7 रेस कोर्स स्थित आवास पर रियो ओलंपिक 2016 के विजेता खिलाड़ियों सिल्वर मेडलिस्ट पीवी सिंधु, ब्रॉन्ज मेडलिस्ट साक्षी मलिक, जिमनास्ट दीपा कर्माकर और जीतू राय से मुलाकात की थी।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story