Sports

आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में खेले गये पिछले विश्व कप के बाद के आंकड़ों पर भी गौर करें तब भी रोहित और धवन विश्व भर की सलामी जोड़ियों के सामने अव्वल ही साबित होते हैं। भारतीय जोड़ी ने इन चार वर्षों में 60 मैचों में 2609 रन मिलकर बनाये जिसमें आठ शतकीय और सात अर्धशतकीय साझेदारियां शामिल हैं।

लैंगर ने स्वीकार किया कि दर्शकों पर नियंत्रण बनाना उनके हाथों में नहीं है लेकिन साथ ही उन्होंने प्रशंसकों से आग्रह किया कि वे यह बात समझे कि वार्नर और स्मिथ भी इंसान ही हैं और वे भी गलतियां कर सकते हैं।

एशियाई खेलों में भारत के लिए दो सिल्वर मेडल जीतने वाली स्टार धावक दुती चंद ने बड़ा खुलासा किया है। 100मीटर दौड़ में नेशनल रिकॉर्ड होल्डर दुती चंद ने अपने जीवनसाथी के बार में बताया है। दुती ने कहा कि वह अपने शहर की ही एक महिला मित्र के साथ रिलेशनशिप में हैं।

जोकोविच ने अर्जेंटीना के डिएगो श्वार्ट्जमैन को दो घंटे 31 मिनट में 6-3 6-7 6-3 से शिकस्त दी और अब उनका सामना रविवार को गत चैम्पियन नडाल से होगा।

रोहित ही नहीं शीर्ष क्रम के अन्य दो बल्लेबाज कप्तान विराट कोहली और शिखर धवन भी बड़ी पारी खेलकर विश्व कप में एक पारी में सर्वोच्च स्कोर का भारतीय रिकार्ड अपने नाम पर करने के लिये कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

आस्ट्रेलियाई सरजमीं पर टेस्ट श्रृंखला जीतने वाले पहले भारतीय कप्तान कोहली ऐसी टीम की अगुवाई करेंगे जिसकी अपनी कुछ समस्यायें हैं लेकिन वह मैच का रूख बदलने वाली टीमों से जरा भी कम नहीं है जो बड़े टूर्नामेंट के लिये जरूरी चीज होती है।

क्रिकेट की दुनिया में हर कोई बैटिंग, फील्डिंग और बॉलिंग की बात करता है, लेकिन सबसे महत्वपूर्ण विकेटकीपिंग को इतनी तवज्जो नहीं मिलती, जबकि इसमें ही सबसे ज्यादा एकाग्रता की जरुरत पड़ती है।

अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ ने शनिवार को यह जानकारी दी। इसमें भारत, सीरिया, ताजिकिस्तान और उत्तर कोरिया भाग लेंगे। सभी टीमें राउंड राबिन प्रारूप में एक दूसरे के खिलाफ खेलेंगे और शीर्ष दो टीमें फाइनल के लिये क्वालीफाई करेंगी।

वीरेंद्र सहवाग के पास 2011 में बांग्लादेश के खिलाफ ढाका में गांगुली का रिकार्ड तोड़ने का सुनहरा मौका था लेकिन वह कपिल देव की 1983 में खेली गयी ऐतिहासिक नाबाद 175 रन की पारी की बराबरी करके पवेलियन लौट गये। सचिन तेंदुलकर ने 2003 में नामीबिया के खिलाफ पीटरमैरिटजबर्ग में 152 रन बनाये थे। वनडे में पहला दोहरा शतक जड़ने वाले तेंदुलकर का यह विश्व कप में सर्वोच्च स्कोर भी है।

पहली श्रृंखला पिछले साल अक्तूबर में खेली गई थी जब आस्ट्रेलिया ए ने वनडे और टी20 श्रृंखला के लिये भारत का दौरा किया था।