Top

वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने वाले प्रणव ने डिप्रेशन के चलते छोड़ा क्रिकेट, मास्टर ब्लास्टर से हुई थी तुलना

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 29 Dec 2017 8:23 AM GMT

वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने वाले प्रणव ने डिप्रेशन के चलते छोड़ा क्रिकेट, मास्टर ब्लास्टर से हुई थी तुलना
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुंबई : अंतर स्कूल टूर्नामेंट में नॉट आउट 1009 रन बनाकर विश्व रिकॉर्ड बनाने वाले प्रणव धनवाड़े ने क्रिकेट छोड़कर सभी को एक तगड़ा झटका दिया है। दरअसल, प्रणव धनवाड़े डिप्रेशन में हैं, जिसकी वजह से उन्होंने यह फैसला लिया है। बताया यह भी जा रहा है कि इस वर्ल्ड रिकॉर्ड को बनाने के बाद से प्रणव एक भी कमाल नहीं कर पाए हैं।

ऐसे में खराब फॉर्म का खामियाज़ भुगत रहे प्रणव ने मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन (एमसीए) से मिलने वाली स्कॉलरशिप को भी अब लेने से मना कर दिया है। 15 वर्षीय क्रिकेटर प्रणव ने करीब साल भर पहले चार अंकों का स्कोर बनाकर जो वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम किया था, शायद उसे वो संभाल नहीं पाए।

ऐसे में मुश्किल हालात और खराब फॉर्म के चलते वो डिप्रेशन में चले गए। पहले तो एमसीए से 10 हजार हर महीने मिलने वाली स्कॉलरशिप से वह अपनी पढ़ाई और खेल को जारी रखते थे लेकिन बाद में ख़राब परफॉरमेंस के चलते उन्हें किनारे कर दिया गया जिसकी वजह से उनकी स्थिति और बिगड़ गई।

वहीं, इस मामले में एमसीए का कहना है कि जब प्रणव वापस शानदार फॉर्म में आ जायेंगे तो एसोसिएशन फिर से उन्हें स्कालरशिप देना शुरू कर देगा। इसके अलावा प्रणव के कोच मोबिन शेख का कहना है कि वो एक होनहार खिलाड़ी हैं और वो लगातार उनको प्रोसाहित करने की कोशिश कर रहे हैं।

यही नहीं, प्रणव के डिप्रेशन में जाने का एक कारण ये भी कि उनकी ख़राब परफॉरमेंस के चलते एआईआर इंडिया और दादर यूनियर ने भी उन्हें अपने यहां नेट प्रेक्टिस करने से मना कर दिया था।

बता दें, 327 गेंदों पर 59 छक्के और 129 चौके जड़ते हुए प्रणव ने नॉट आउट 1009 रन बनाए थे। ऐसा करके उन्होंने एक वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम किया। चार अंकों का स्कोर बनाने वाले वह दुनिया के इकलौते बल्लेबाज हैं।

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story