Top

विंबलडन: बोपन्ना-द्राबोव्स्की की जोड़ी क्वार्टर फाइनल में हारी, तीसरे सेट में पलटी बाजी

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 14 July 2017 10:09 AM GMT

विंबलडन: बोपन्ना-द्राबोव्स्की की जोड़ी क्वार्टर फाइनल में हारी, तीसरे सेट में पलटी बाजी
X
फ्रेंच ओपन: मिश्रित युगल वर्ग में बोपन्ना-डाब्रोव्स्की से हारी सानिया-डोडिग की जोड़ी
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

विंबलडन में भारत के टेनिस खिलाड़ी रोहन बोपन्ना और उनकी कनाडा की जोड़ीदार गैब्रिएला द्राबोव्स्की साल के तीसरे ग्रैंड स्लैम विंबलडन के मिश्रित युगल वर्ग के क्वार्टर फाइनल में हारकर टूर्नामेंट से बाहर हो गई है।

बोपन्ना और द्राबोव्स्की की जोड़ी को गैरवरीय फिनलैंड के हेनरी कोंटिनेने और ब्रिटेन की हीदर वाटसन की जोड़ी ने गुरुवार देर रात खेले गए मैच में मात दी।

कोटिंनेन और हीदर की जोड़ी ने बोपन्ना और द्राबोव्स्की की जोड़ी को तीन सेट तक चले क्वार्टर फाइनल मुकाबले में 6-7 (4-7), 6-4, 7-5 से मात दी। यह मुकाबला दो घंटे तक चला।

सेमीफाइनल में हीदर और कोंटिनेन की जोड़ी का सामना ब्राजील के ब्रूनो सोआरेस और रूस की एलेना वेसनिना की जोड़ी से होगा।

इस जोड़ी ने गैरवरीय जर्मनी के आंद्रे बेजेमैन और अमेरिका की निकोले मेलिचार की जोड़ी को 7-5, 6-4 से मात देते हुए सेमीफाइनल में प्रवेश किया।

बोपन्ना और द्रबोव्स्की की जोड़ी ने अच्छी शुरुआत करते हुए काफी कड़े मुकाबले में पहला सेट अपने नाम किया।

लेकिन कोंटिनेन और वाटसन ने दूसरे सेट में आसानी से जीत दर्ज की।

तीसरे सेट में मुकाबला काफी रोचक रहा, जहां बोपन्ना और द्राबोव्स्की काफी मशक्कत के बाद भी जीत हासिल नहीं कर पाए।

-आईएएनएस

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story