Top

डायना ले गई थीं हरमनप्रीत को मुंबई, सचिन ने दिलवाई रेलवे में जॉब

महिला वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में धमाकेदार पारी के बाद हरमनप्रीत कौर की फैंस लिस्ट में जबर्दस्त बढ़ोत्तरी हुई है। इतना ही नहीं, पश्चिम रेलवे ने उन्हें इनाम के तौर पर प्रमोशन देने का भी फैसला किया है। 29 साल की हरमनप्रीत के क्रिकेट सफर में दो पूर्व दिग्गजों का हाथ रहा है।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 22 July 2017 12:15 PM GMT

डायना ले गई थीं हरमनप्रीत को मुंबई, सचिन ने दिलवाई रेलवे में जॉब
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : महिला वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में धमाकेदार पारी के बाद हरमनप्रीत कौर की फैंस लिस्ट में जबर्दस्त बढ़ोत्तरी हुई है। इतना ही नहीं, पश्चिम रेलवे ने उन्हें इनाम के तौर पर प्रमोशन देने का भी फैसला किया है। 29 साल की हरमनप्रीत के क्रिकेट सफर में दो पूर्व दिग्गजों का हाथ रहा है।

पहले तो भारतीय महिला टीम की कप्तान डायना एडुलजी ने हरमनप्रीत को मुंबई में नौकरी करने के लिए मनाया। इसके बाद महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर की सिफारिश पर उन्हें वेस्टर्न रेलवे में नौकरी मिली।

हरमनप्रीत को किया राजी

दरअसल, एडुलजी जो खुद पश्चिम रेलवे में कार्यरत हैं। वह चाहती थीं कि हरमनप्रीत मुंबई में रेलवे में नौकरी करें। तब 24 साल की हरमन को उन्होंने पंजाब टीम से खेलते देखा था। एक इंटरव्यू में एडुलजी ने कहा कि 'वह रेलवे के लिए तो खेलना चाहती थीं, लेकिन पंजाब छोड़ने को राजी नहीं थी। मैंने हरमन को समझाया कि पंजाब में उन्हें जूनियर क्लर्क की नौकरी मिलेगी, वहीं मुंबई में उन्हें अच्छी सैलरी दी जाएगी।'

किया जाएगा सम्मानित

लेकिन, रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड ने हरमनप्रीत को जॉब देने के एडुलजी के प्रस्ताव को नहीं माना। इसके बाद एडुलजी ने सचिन से बात की। सचिन भी हरमनप्रीत की प्रतिभा से प्रभावित हुए। सांसद रहते उन्होंने हरमनप्रीत के लिए रेलवे को चिट्ठी लिखी। इसके बाद ही हरमनप्रीत की वेस्टर्न रेलवे में जॉब पक्की हो गई। अब उसी पश्चिम रेलवे के मुख्य जन संपर्क अधिकारी ने कहा कि रेलवे बोर्ड को लिखकर हरमनप्रीत की पद्दोन्नति की अनुशंसा की जाएगी। इंग्लैंड से लौटने पर उन्हें इससे सम्मानित किया जाएगा।

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story