Top

कैंडी टेस्ट IND-SL: धवन का शानदार शतक, भारत के स्टम्प्स तक 6/329 रन

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम के लिए धवन और राहुल ने पहले सत्र की समाप्ति कर बिना कोई विकेट गंवाए 134 रन बना लिए थे।

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 12 Aug 2017 1:50 PM GMT

कैंडी टेस्ट IND-SL: धवन का शानदार शतक, भारत के स्टम्प्स तक 6/329 रन
X
कैंडी टेस्ट IND-SL: धवन का शानदार शतक, भारत के स्टम्प्स तक 6/329 रन
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कैंडी (श्रीलंका) : भारतीय क्रिकेट टीम ने अपनी सलामी जोड़ी शिखर धवन (119) और लोकेश राहुल (85) की शानदार साझेदारी के दम पर अपनी स्थिति मजबूत कर श्रीलंका के खिलाफ जारी तीसरे टेस्ट मैच के पहले दिन शनिवार (12 अगस्त)को स्टम्प्स तक छह विकेट के नुकसान पर 329 रन बना लिए हैं। रिद्धिमान साहा 13 और हार्दिक पांड्या एक रन बनाकर नाबाद हैं।

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम के लिए धवन और राहुल ने पहले सत्र की समाप्ति कर बिना कोई विकेट गंवाए 134 रन बना लिए थे। इसके साथ ही पहले सत्र का समापन हुआ।

दूसरे सत्र की शुरुआत में धवन और राहुल ने टीम के खाते में 54 रन ही जोड़े थे कि 188 के कुलयोग पर मलिंदा पुष्पकुमारा ने दिमुथ करुणारत्ने के हाथों राहुल को कैच आउट कर मेहमान टीम के पहला झटका दिया। अपने करियर का 19वां टेस्ट मैच खेल रहे राहुल का यह नौंवा अर्धशतक है।

राहुल के आउट होने के बाद धवन का साथ देने आए चेतेश्वर पुजारा ने 31 रनों की साझेदारी कर टीम को 200 के पार पहुंचाया। धवन भी नए युवा गेंदबाज पुष्पकुमारा की गेंद पर दिनेश चांडीमल के हाथों लपके गए। धवन ने इस पारी में अपने टेस्ट करियर का छठा शतक लगाया। उन्होंने 123 गेंदों पर 17 बार गेंद को बाउंड्री के पार पहुंचाया।

धवन और राहुल की जोड़ी ने कुल 188 रनों की शानदार साझेदारी की। इस मजबूत साझेदारी के टूटने के बाद भारतीय टीम की पारी को आगे बढ़ाने उतरे चेतेश्वर पुजारा (8) ने कप्तान विराट कोहली (42) टीम के खाते में अभी 10 रन ही जोड़े थे कि लक्षणन संदाकन ने एंजेलो मैथ्यूज के हाथों पुजारा को कैच आउट किया।

श्रीलंका के खिलाफ दो बल्लेबाजों के बीच इतनी बड़ी साझेदारी 1993 में एसएससी मैदान पर हुई थी। प्रभाकर और सिद्धू ने 171 रनों की शानदार साझेदारी की थी।

कोहली और अजिंक्य रहाणे (17) ने चौथे विकेट के लिए 35 रन जोड़कर टीम को 264 के स्कोर तक पहुंचाया था, लेकिन पुष्पकुमारा ने एक बार फिर आगे आते हुए रहाणे को बोल्ड कर इस साझेदारी को टिकने का मौका नहीं दिया।

कप्तान कोहली ने इस साझेदारी के टूटने के बाद तेज गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन (31) के साथ 32 रन जोड़े और टीम को 300 के स्कोर के करीब पहुंचाया। संदाकन ने कुरणारत्ने के हाथों कोहली को ही आउट कर टीम का पांचवां विकेट गिराया।

पांच विकेट खो चुकी भारतीय टीम की पारी को आगे बढ़ाने उतरे अश्विन और साहा ने 26 रन जोड़कर टीम को 300 के पार पहुंचा दिया। हालांकि, 322 के कुल स्कोर पर विश्वा फर्नाडो ने विकेट के पीछे खड़े निरोशन डिकवेला के हाथों अश्विन को कैच आउट कर भारत का छठा विकेट भी गिराया।

साहा और पांड्या ने इसके बाद टीम की पारी को आगे बढ़ाया और स्टम्प्स तक बिना कोई और विकेट गंवाए स्कोर 329 तक पहुंचाया। श्रीलंका के लिए पुष्पकुमारा ने सबसे अधिक तीन विकेट लिए, वहीं संदाकन को दो और फर्नाडो को एक सफलता मिली। तीन टेस्ट मैचों की इस सीरीज में भारत ने पिछले दो टेस्ट मैचों में जीत हासिल कर 2-0 से अजेय बढ़त बना रखी है।

--आईएएनएस

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story