Top

विवियन रिचर्डस ने की इस भारतीय क्रिकेटर की तारीफ, कहा- इसमें है 'आग'

aman

amanBy aman

Published on 7 July 2017 11:15 AM GMT

विवियन रिचर्डस ने की इस भारतीय क्रिकेटर की तारीफ, कहा- इसमें है आग
X
विवियन रिचर्डस ने की इस भारतीय क्रिकेटर की तारीफ, कहा- इसमें दिखता है 'आग'
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

जमैका: यदि कोई बड़ा खिलाड़ी किसी नए खिलाड़ी की तारीफ करे, तो उसकी रातों की नींद उड़ जाना लाजिमी है। यही हुआ भी, भारतीय क्रिकेट टीम में नए-नए शामिल हुए हार्दिक पांड्या के साथ।

सचिन तेंदुलकर को यदि क्रिकेट का भगवान कहा जाता है तो वेस्टइंडीज के विवियन रिचर्डस 'किंग' कहे जाते हैं। भारत और वेस्टइंडीज के बीच कल 6 जुलाई को खेले गए आखिरी एकदिवसीय मुकाबले को देखने किंग भी आए थे।

किंग ने की पांड्या की तारीफ

मैच के बीच आए अंतराल में कमेंटेटर हर्षा भोगले ने किंग से बात की। विव रिचर्डस ने बातचीत में हार्दिक पांड्या की तारीफ की, लेकिन साथ में चेतावनी भी दी कि उसे लगातार अपने खेल को निखारने पर ध्यान देना होगा। वो हार्दिक में एक आग देखते हैं लेकिन उसे क्रिकेट का सम्मान करना होगा।

आगे की स्लाइड में पढ़ें पूरी खबर ...

ये खिलाड़ी कर सकते हैं तब के तेज आक्रमण का सामना

सवाल था, कि 1970 के दशक में वेस्टइंडीज के तेज आक्रमण का सामना करने के आज के बल्लेबाजों में कौन सक्षम है? इसके जवाब में विव ने भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली, ऑस्ट्रेलिया के स्टिव स्मिथ, दक्षिण अफ्रीका के एवी डिविलियर्स और इंग्लैंड के जो रूट का नाम लिया।

जयवर्धने और संगकारा की भी तारीफ की

उल्लेखनीय है कि वेस्टइंडीज का तेज आक्रमण 1970 में अपने चरम पर था। इसमें माइकल होल्डिंग, ज्योल गार्नर, मार्शल और एंडी रॉबर्ट्स जैसे गेदबाज थे। उनका कहना था कि आज की पौध में उन्हें ये बल्लेबाज ही ऐसे दिखाई देते हैं जो उस वक्त के तेज आक्रमण का सामना कर सकते हैं। विव रिचर्डस ने श्रीलंका के माहेला जयवर्धने और कुमार संगकारा की भी तारीफ की।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story