Top

बुलावायो टेस्ट : जिम्बाब्वे के स्पिनरों ने वेस्टइंडीज को 219 पर समेटा

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 22 Oct 2017 8:54 AM GMT

बुलावायो टेस्ट : जिम्बाब्वे के स्पिनरों ने वेस्टइंडीज को 219 पर समेटा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बुलावायो : जिम्बाब्वे के ग्रीम क्रेमर (64/4) और सीन विलियम्स (20/3) की स्पिन जोड़ी ने रविवार को क्वींस स्पोटर्स क्लब मैदान पर शुरू हुए पहले टेस्ट मैच के पहले दिन वेस्टइंडीज को सस्ते में घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया। मेहमान टीम पहली पारी में 219 रन बना सकी। वेस्टइंडीज की पारी समेटने के बाद अपनी पहली पारी खेलने उतरी जिम्बाब्वे दिन का खेल समाप्त होने तक 19 रन बना लिए थे। हेमिल्टन मसाकाद्जा (17) और सोलोमोन मिरे खाता खोले बगैर नाबाद लौटे।

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी वेस्टइंडीज ने शुरुआत अच्छी की थी। कीरन पावेल (56) की अर्धशतकीय पारी के दम पर मेहमान टीम ने तीन विकेट के नुकसान पर 100 का आंकड़ा पार किया था, लेकिन इसी स्कोर पर क्रीमर ने पावेल को आउट कर दिया।

ये भी देखें : हॉकी : हीरो एशिया कप में भारत ने दूसरी बार पाकिस्तान को रौंदा

इसके बाद शाई होप (नाबाद 90) ने वेस्टइंडीज की पारी को संभाला, लेकिन उन्हें टीम के बाकी बल्लेबाजों का साथ नहीं मिला। होप अंत कर मैदान पर टिके रहे, लेकिन दूसरे छोर पर आने वाले सभी बल्लेबाजों के विकेट नियमित रूप से गिरते रहे और इस कारण वेस्टइंडीज की पारी 219 रनों पर सिमट गई

होप ने 210 गेंदों में सात चौके और एक छक्का लगाया।

वेस्टइंडीज की टीम को इस कदर कमजोर करने में क्रीमर ने चार और विलियम्स ने तीन विकेट लेकर अहम भूमिका निभाई। इसके अलावा, मिरे और सिकंदर रजा को एक-एक सफलता हासिल हुई।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story