Top

शीतकालीन ओलंपिक: क्या इस व्यंजन को खाएंगे आप ?

Anoop Ojha

By Anoop Ojha

Published on 9 Feb 2018 9:32 AM GMT

शीतकालीन ओलंपिक: क्या इस व्यंजन को खाएंगे आप ?
X
शीतकालीन ओलंपिक: क्या इस व्यंजन को खाएंगे आप ?
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

सोल: दक्षिण कोरिया के इओंगचांग प्रांत में आज से शुरू हो रहे शीतकालीन ओलंपिक समारोह में कुत्ते का मांस मिलना तय है।क्योंकि अन्य देशों में पालतू माने जाने वाले इस पालतू जानवर को मारकर खाने की इस देश में परंपरा रही है।और कुत्तें का मांस न परोसने के सरकार के अनुरोध को यहां के सभी रेस्त्रां ने ठुकरा दिया है।ऐसा समझा जाता है कि दक्षिण कोरियाई एक साल में दस लाख से अधिक कुत्तों को ग्रीष्मकालीन व्यंजन के तौर पर मारकर खा जाते हैं। यहां पर कुत्ते का मांस ताकत बढाने वाला माना जाता है।कुत्तों को पकाने के लिए उन्हें जिंदा ही पानी में उबाला जाता है। पशु प्रेमी कार्यकर्ता इस पर रोक लगाने के लिए आनलाइन अभियान छेड़े हुए हैं और इयांगचांग शीतकालीन ओलंपिक का बहिष्कार करने का आह्वान कर रहे हैं।

शीतकालीन ओलंपिक: क्या इस व्यंजन को खाएंगे आप ? शीतकालीन ओलंपिक: क्या इस व्यंजन को खाएंगे आप ?

देश की बदनामी से बचने के लिए स्थानीय प्राधिकारियों ने 12 रेस्त्रां के मालिकों से खेलों के दौरान कुत्ते का मांस न बेचे जाने के बदले में छूट हासिल करने का प्रस्ताव किया था। लेकिन केवल दो रेस्त्रां ने इसको माना। यह जानकारी इओंगचांग प्रांत की सरकार के प्रवक्ता ली योंग बे ने देते हुए कहा कि हमें रेस्त्रां संचालकों की लगातार शिकायतें मिल रही हैं जिसमें वह अपने भरण पोषण पर संकट की बात कह रहे हैं। कुछ ने शुरूआत में कुत्तें के मांस के बदले सुअर का मांस या दूसरी चीजें बेचनी शुरू की थीं लेकिन बाद में उन्होंने फिर कुत्ते का मांस बेचना शुरू कर दिया।

शीतकालीन ओलंपिक: क्या इस व्यंजन को खाएंगे आप ? शीतकालीन ओलंपिक: क्या इस व्यंजन को खाएंगे आप ?

प्रवक्ता ने कहा कि विदेशी पर्यटकों पर पड़ने वाले गलत प्रभाव को ध्यान में रखते हुए कुत्तें के मांस से तैयार होने वाले स्वास्थ्य सुधारने वाला सूपों के स्थान पर बकरे का सूप अधिक ताकतवर होने का प्रचार किया जा रहा है। सोल में आधिकारिक रूप से कुत्ते का मांस सांप के मांस की तरह घिनौना घोषित किया गया है लेकिन इसकी कानूनी रूप से कोई मान्यता नहीं है। यानी अगर कोई इसे मारकर खाए या खिलाय़े तो उस पर कोई रोक नहीं है।

शीतकालीन ओलंपिक: क्या इस व्यंजन को खाएंगे आप ? शीतकालीन ओलंपिक: क्या इस व्यंजन को खाएंगे आप ?

दक्षिण कोरिया के अधिकारी अंतरराष्ट्रीय आयोजन के दौरान रेस्त्रां संचालकों पर मीनू बदलने के लिए दबाव डाल रहे हैं। लेकिन उनकी सुनी नहीं जा रही है। हालांकि कोरिया की ऩई पीढ़ी इसे पसंद नहीं करती है लेकिन फिलहाल तो कुत्ते को पालने वाले पशु के रूप में देखे जाने के युवाओं के बढ़ते क्रेज में पुरानी परंपराएं बाधक बन ही रही हैं।

Anoop Ojha

Anoop Ojha

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story