अनमोल

गरीबी, अशिक्षा ,बेरोजगारी बीमारियों व सामाजिक कुरीतियों से जूझ रहा हमारा देश एक ऐसे मुहाने पर खड़ा है जहां एक तरफ खाई तो दूसरी तरफ पहाड़ है। डगर कठिन है। अब समय आ गया है कि विकास की ऐसी नीति अपनाई जाए जिससे जन सक्रियता सुनिश्चित हो और लोकहित के कर्तव्यों को पूरा करने के …