Adani group

करण अदाणी ने कहा धामरा और कट्टुपल्ली पोर्ट जैसे अधिग्रहणों को लेकर हासिल किया गया हमारा अनुभव हमें केपीसीएल की क्षमता का लाभ उठाने में सक्षम बनायेगा।

केंद्र सरकार ने हाल ही में लखनऊ, जयपुर और अहमदाबाद समेत देश के छह हवाई अड्डों का निजीकरण किया है, वह सब के सब अडानी ग्रुप ने ही लिए हैं।

अदाणी ग्रुप स्थिरता, विविधता और साझा मूल्यों के सिद्धांतों पर आधारित अपने सीएसआर प्रोग्राम के जरिये, तथा जलवायु संरक्षण पर जोर देने और सामुदायिक पहुंच बढ़ाने के साथ अपने व्यवसायों को जोड़ते हुए, अपने ईएसजी फुटप्रिंट बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है।

अडानी समूह इस हिस्सेदारी के लिए 15,000 करोड़ रुपये का भुगतान कर सकता है। इतना ही नहीं मुंबई में बन रहे दूसरे हवाई अड्डे नवी मुंबई एयरपोर्ट का भी मालिकाना हक अडानी समूह को मिल सकता है, क्योंकि उसमें मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड MIAL की 74 फीसदी हिस्सेदारी है।

यह पुरस्कार, दुनिया में अपने प्रकार का अब तक का सबसे बड़ा एकल निवेश होगा। 45,000 करोड़ (US $ 6 बिलियन) और 400,000 प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार पैदा करेगा। यह अपने 900 मिलियन टन कार्बन डाइऑक्साइड को भी विस्थापित करेगा।

बीते दिनों पीएम मोदी ने आत्मनिर्भर पैकेज का एलान किया था, जिसके तर्ज पर आज वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पांचवें चरण में राहत पैकेज के बारे में जानकारी दिया।

कोविड 19 प्रकोप के इस संकट की घड़ी में अडाणी फ़ाउंडेशन के तत्वावधान में झांसी स्थित अडाणी ग्रीन एनर्जी यूपी लिमिटेड ने निकटवर्ती गांव बदनपुर और गजगौन में 400 घरों को सेनेटाइज किया और ग्रामीणों में मास्क का वितरण किया।

अडानी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक ज़ोन लिमिटेड (APSEZ) ने मंगलवार को 31 मार्च को समाप्त चौथी तिमाही के लिए समेकित शुद्ध लाभ में 74 प्रतिशत की गिरावट के साथ 340.21 करोड़ रुपये की गिरावट दर्ज की। एक साल पहले इसी अवधि में, कंपनी ने बीएसई फाइलिंग में कहा था।

अडाणी समूह को दिल्ली के पॉश इलाके लुटियंस में 1,000 करोड़ रुपये का घर केवल 400 करोड़ में मिल गया है। 3.4 एकड़ में फैले इस आलीशान बंगले का बिल्ट-अप एरिया 25,000 स्क्वायर फीट है। जिसमें सात बेडरूम, 6 डाइनिंग रूम, एक स्टडी रूम और 7,000 स्क्वायर फीट में स्टाफ क्वार्टर बने हुए हैं।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में हुई डीएसी बैठक के दौरान चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) बिपिन रावत भी मौजूद थे। देश के पहले सीडीएस के नियुक्ति के बाद यह डीएसी की पहली बैठक थी। बैठक के बाद रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा