Aditya Thackeray

बीते कुछ दिनों से बॉलीवुड इंडस्ट्री से लेकर राजनैतिक गलियारों में कंगना बनाम महाराष्ट्र सरकार का शोर सुनाई दे रहा है। फिल्म एक्ट्रेस कंगना रनौत और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बीच तनातनी जारी है।

एक्टर सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस में बिहार और मुंबई पुलिस दोनों जांच करने में जुटी हुई है। इस बीच बिहार सरकार ने इस मामले में सीबीआई जांच की सिफारिश की है, जो कि शिवसेना को रास नहीं आ रही है।

कोरोना वायरस ने भारत में सबसे ज्यादा नुकसान मुंबई शहर को पहुंचाया है। इसे लेकर सियासत भी खूब हो रही है। राजनीतिक दल एक दूसरे को घेरने का कोई भी मौक़ा हाथ से गंवाना नहीं चाहते।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कल बयान दिया था कि महाराष्ट्र में कांग्रेस डिसिजन मेकर की भूमिका में नहीं है। उनका ये बयान सावर्जनिक होने के बाद से इस पर काफी हो हल्ला मचा हुआ है।

महाराष्ट्र में वीर सावरकर के मुद्दे पर विवाद थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने कहा संजय राउत का बयान निजी है। फिर हमें इतिहास के बजाय वर्तमान के मुद्दों पर बात करने की जरूरत है।

मुंबई: महाराष्ट्र की राजनीति में सोमवार का दिन अहम है। आज महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) अपनी कैबिनेट का विस्तार (cabinet expansion) किया।अजित पवार ने सबसे पहले उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली। वहीं मंत्रिमंडल में शामिल होने वाले विधायकों ने भी मंत्री पद की शपथ ले ली है।

क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले खिलाड़ी और भारत रत्न सचिन तेंदुलकर की सुरक्षा हटा ली गई है। ये फैसला उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र सरकार ने किया है।

यदि उद्धव ठाकरे को अपने पुत्र आदित्य को मुख्यमंत्री बनाने की लालसा न उठी होती तो आज महाराष्ट्र में भाजपा-शिवसेना की सरकार सत्तासीन होती।