adr

भारत निर्वाचन आयोग (ईसीआई), अपने में पत्र दिनांक 19 वें नवंबर '14 राष्ट्रपतियों/सभी राजनीतिक दलों के जनरल सचिव को संबोधित, ने कहा कि यह अनिवार्य कर दिया था दलों आयोग को उनके लेखा परीक्षा रिपोर्ट के विवरण प्रस्तुत करने के लिए।

नेशनल इलेक्शन वाच ने तेलंगाना विधानसभा चुनाव 2018 में नेशनल इलेक्शन वाच ने चुनाव में वोटों के शेयर, मतों के अंतर और विजयी प्रत्याशियों को मिले मतों का अध्ययन किया है। एडीआर और तेलंगाना इलेक्शन वाच ने 119 विधानसभा सीटों के  लिए वोट शेयर का अध्ययन कर अपनी रिपोर्ट जारी कर दी है।

मध्यप्रदेश एलेक्शन वॉच (एमपीईडब्ल्यू) और एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) ने दोबारा चुनाव लड़ रहे निवर्तमान विधायकों की संपत्ति पर चौंकाने वाली रिपोर्ट जारी की है। रिपोर्ट के अनुसार 2008 में इन विधायकों की कुल घोषित औसत संपत्ति जहां 1 करोड़ थी,  अब बढ़कर 5 करोड़ हो गई है।

नई दिल्ली : राजनीति में ईमानदारी पारदर्शी सार्वजनिक जीवन की पैरवी करने वाले राजनीतिक दलों को लेकर बड़ा खुलासा सामने आया है। देश भर के लगभग 194 नेताओं ने चुनाव आयोग को पैन कार्ड की गलत जानकारी दी है। इनमें 6 पूर्व सीएम, 10 कैबिनेट मंत्री, 8 पूर्व मंत्री, 54 विधायक, 102 पूर्व विधायक, एक …

मुंबई: महाराष्ट्र के राज्यपाल विद्यासागर राव ने गुरुवार को निकाय इलेक्शन वाच रिपोर्ट पर एक किताब का विमोचन किया। इस किताब में महाराष्ट्र में हुए पिछले दो सालों में स्थानीय निकाय चुनावों के करीब 40 हजार उम्मीदवारों से संबधित सभी जानकारियां दी गयी है। जिसमे वित्तीय, शैक्षिक और आपराधिक पृष्ठभूमि की जानकारी शामिल है। यह …

लखनऊ: पीएम नरेंद्र मोदी ने आज (3 सितंबर) अपने मंत्रिमंडल में बड़ा फेरबदल किया। एडीआर के मुताबिक, रविवार को मंत्री बने लोगों में सबसे कम पैसे वाले अल्फांसे हैं जबकि ब्यूरोक्रेट होने के कारण हरदीप की संपत्ति का ब्योरा मौजूद नहीं है। 1- शिव प्रताप शुक्ला (उत्तर प्रदेश) शिव प्रताप शुक्ला यूपी से राज्यसभा सांसद …

लखनऊ: केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार महिलाओं की सुरक्षा या बेटी बचाओ के जितने भी दावे करे लेकिन चुने गए जनप्रतिनिधियों का इनके प्रति व्यवहार कुछ और ही कहानी बयां करता है। नेशनल इलेक्शन वाच न्यूज और एसोसिएशन फार डेमोक्रेटिक रिफार्म ने चुने गए 776 में से 774 सांसदों और देश के 4120 विधायकों में …

लखनऊ: बसपा सुप्रीमों मायावती ने भाजपा के करोड़ों सदस्यों के दावों को फर्जी करार दिया है। एसोसिएशन आफ डेमोक्रेटिक रिफार्म्स (एडीआर) के प्रकाशित ताजा आंकड़ों का हवाला देते हुए उन्होंने कहा है कि भाजपा को वर्ष 2012 से 2016 तक कुल चन्दे का 92 प्रतिशत अर्थात लगभग 708 करोड़ रुपया कुछ धन्नासेठों से मिला है। ​यदि …

यूपी विधानसभा चुनाव 2017 के छठे चरण में अपराधियों को टिकट देने के मामले में बसपा 49 फीसदी के साथ सबसे आगे है। जबकि बीजेपी 36 फीसदी के साथ दूसरे नंबर पर है।