afghanistan

राजधानी काबुल में एक के बाद एक लगातार चार बम धमाके हुए। बम ब्लास्ट से डर कर लोग इधर उधर भागने लगे तो वहीं सुरक्षा एजेंसियां एलर्ट पर हो गयी।

इस जनजाति के लोगों में संबंधों को लेकर इतना खुलापन है कि शादीशुदा महिलाओं को अगर कोई दूसरा पुरुष पसंद आ जाए तो वे उसके साथ रह सकती हैं।

कोरोना वायरस की इस विश्वव्यापी महामारी के दौर में सबकी नजर भारत ओर है, जो सबके लिए कुछ निश्चित दवाएं बना रहा है। दवाओं के साथ भारत अब कुछ जरूरतमंद देशों को खाद्यान्न का निर्यात भी करेगा।

तालिबान से समझौता के बाद अमेरिकी सेना ने अफगानिस्तान से अपने सैनिकों की वापसी की शुरूआत कर दी है। बता दें कि इससे पहले अमेरिका ने अपनी सेना के अफगानिस्तान से वापसी के लिए तालिबान से शांति समझौते पर हस्ताक्षर किया था।

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी को सोमवार को दूसरे कार्यकाल के लिए शपथ दिलाई गई। हालांकि, शीर्ष पद के लिए अशरफ गनी के मुख्य प्रतिद्वंद्वी ने उनके शपथ को वैध मानने से इनकार करते हुए ठीक उसी वक्त एक अलग समारोह में राष्ट्रपति पद की शपथ ले ली।

अफगानिस्तान में पश्चिम हेरात प्रांत के कुश्क रूबत सांगी जिले में तालिबान आतंकवादियों के हमले में सात लोगों की मौत हो गयी और 17 अन्य घायल हो गये।

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के पश्चिमी हिस्से में शुक्रवार को एक राजनीतिक रैली के दौरान हुई गोलीबारी में कम से कम 27 लोगों की मौत हो गई। अमेरिका और तालिबान के बीच हुए समझौते के बाद यह सबसे बड़ा हमला है।

यूएनएएमए ने यह आंकड़ा अफगानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र और तालिबान मूवमेंट के एक हफ्ते के हिंसा विराम मसौदे की रूपरेखा के बीच जारी किया है और अगर यह समझौता सफल रहा तो दोनों देश 29 फरवरी को शांति समझौते पर हस्ताक्षर करेंगे।