ahmedabad

गुजरात के अहमदाबाद से दर्दनाक हादसे की खबर आई है। यहां के एक कोविडव-19 अस्पताल में भीषण आग लग गई है। इस हादसे में 8 लोगों की मौत हो गई है।

पिछले दस दिनों से गुजरात का अहमदाबाद महामारी से मौतों का सबसे बड़ा केंद्र बन गया। गुजरात न केवल कोरोना के सबसे ज्यादा मामलों वाला राज्य बल्कि मौतों के आंकड़ों में भी टॉप पर पहुँच चुका है।

गुजरात के अहमदाबाद से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां एक बाइक सैनिटाइज किए जाने के दौरान हादसे का शिकार हो गई। उसके अंदर आग लग गई।ये दृश्य देख आस पास के लोग भी हैरान हो गए।

कोरोना से जुड़ी एक बड़ी खबर सामने आई है। गुजरात के अहमदाबाद में कई गर्भवती महिलाएं उस समय दंग रह गई, जब बच्चे को जन्म देने से पहले हुए टेस्ट में उन्हें कोरोना संक्रमित पाया गया।

जाने-माने ज्‍योतिषी बेजान दारूवाला का 90 वर्ष की उम्र में निधन हो गया है। उन्होंने गुजरात में अहमदाबाद में अंतिम सांस ली। वह अपोलो अस्पताल में भर्ती थे। बेजान दारूवाला के बेटे नास्तुर दारूवाला ने इसकी पुष्टि की है।

गुजरात के अहमदाबाद से एक ऐसी तस्वीर सामने आई जिसने थोड़ी देर के लिए ही सही लेकिन मजदूरों के चेहरे पर मुस्कान लाने का काम किया है। दरअसल मामला कुछ यूं है कि अहमदाबाद के कालूपुर रेलवे स्टेशनपर एक हेड कांस्टेबल ने परदेशी, परदेशी, जाना नहीं, गाकर प्रवासी मजदूरों को उनके राज्यों के लिए जाने वाली ट्रेनों की ओर विदा किया।

कोरोना वायरस देश में तेजी से पैर पसार रहा है। इस महामारी ने अभी तक 65 हजार से अधिक लोगों को अपना शिकार बनाया है। देश के कई शहरों में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इस बीच गुजरात में लगातार बढ़ रहे केस ने प्रशासन की चिंता बढ़ा दी है।

गुजरात के अहमदाबाद से बड़ी खबर आ रही है। अहमदाबाद के साबरमती इलाके की झोपड़पट्टी में सोमवार दोपहर को भीषण आग लग गई।

लॉकडाउन के चलते मजदूर अपने राज्यों से दूर किसी अन्य राज्य या इलाकों में फंसे हुए हैं। लॉकडाउन के दौरान यातायात बंद होने की वजह से वो अपने घरों को वापस नहीं लौट पा रहे हैं।

अहमदाबाद के बाद अब सूरत में भी हॉटस्पॉट इलाकों में कर्फ्यू का एलान कर दिया गया है। 16 अप्रैल से 22 अप्रैल के बीच सूरत के 4 पुलिस थाना इलाकों में कर्फ्यू लगाया जाएगा।