aiims

दिल्ली स्थित आल इंडिया मेडिकल इंस्टीटयूटस ऑफ़ साइंसेज(एम्स) में सोमवार को एक डॉक्टर ने हॉस्टल से कूद कर जान दे दी। उनकी पहचान विकास के तौर पर हुई है। वह 22 साल के थे और बेंगलुरु के रहने वाले थे।

देश की राजधानी दिल्ली में एक बार फिर निर्भया जैसी हैवानियत हुई है। एक 13 साल की नाबालिग मासूम के साथ दरिंदगी की सारी हदें पार कर दी गईं।

दिल्ली के एम्स अस्पताल में एक हैरान कर देने वाला केस सामने आया है। यहां तीन घंटे की सर्जरी के बाद एक आदमी के लीवर से 20 सेमी, लंबा रसोई का चाकू सफलतापूर्वक निकाल लिया गया। जिसके बाद युवक की जान बच सकी। तब जाकर डॉक्टरों ने राहत की सांस ली।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने ऐसा बयान दिया है जिसके बाद चिंता बढ़ गई है। अब इस बीच एम्स के डायरेक्टर डॉ रणदीप गुलेरिया ने कहा कि भारत में कोरोना वायरस के संक्रमण से मृत्यु दर दूसरे देशों से काफी कम है।

दिल्ली एम्स की एथिक्स कमिटी ने कोविड-19 के एंटी वैक्सीन कोवाक्सिन (COVAXIN) के ह्यूमन ट्रायल को मंजूरी दे दी। इसके बाद अस्पताल ने लोगों से वॉलंटियर्स बनने की एक छोटी सी अपील की।

आल इंडिया मेडिकल इंस्टीटयूट ऑफ़ साईंसेंज (एम्स) में इलाज के लिए मरीजों की तादाद दिनों-दिन बढ़ती ही जा रही है। इसको देखते हुए एम्स ने बड़ा फैसला लिया है।

दिल्ली एम्स में 25 वर्षीय रेजिडेंट डॉक्टर ने 10वीं मंजिल से कूदकर सुसाइड कर लिया। उसे सीरियस कंडीशन में हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था।

अमेरिका समते कई देशों में तांडव मचाने के बाद कोरोना वायरस अब भारत में भी तेजी से पांव पसार रहा है। बीते 24 घंटे में देश में 24 हजार 248 नए कोरोना के मामले सामने आए हैं जबकि 425 लोगों की मौत हो गई है।

परीक्षा में शामिल होने वाले सारे उम्मीदवार अपना परिणाम आधिकारिक वेबसाइट aiimsexam.org पर जाकर एम्स पीजी के परिणाम की जांच कर सकते हैं।

कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। रोज बड़ी संख्या में नये केस सामने आ रहे हैं। उतनी ही बड़ी संख्या में लोगों की मौतें भी हो रही हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के रविवार सुबह तक जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 24,6,628 हो चुकी है।