aiims

देश में कोरोना वायरस का कहर जारी है। लॉकडाउन का सोमवार को 6वां दिन है, इस बीच लोगों को अधिक से अधिक घर में रहने को कहा गया है। हालांकि, अब जरूरत का सामान लेने के लिए धीरे-धीरे हर जगह पर छूट दी जा रही है, इसके अलावा होम डिलीवरी की सुविधाओं को भी बढ़ाया जा रहा है।

दिल्ली एम्स (अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान) में लॉकडाउन के चलते बाहर इलाज कराने आए लोगों का जमावाड़ा लगा है। ऐसे बहुत से लोग लॉकडाउन के चलते फंस गए. एम्स के गेट नंबर 1 के बाहर फुटपाथ पर हमारी मुलाकात मान सिंह से हुई।

देश में इस वक्त  कोरोना वायरस के मरीजों के आंकड़ों में हर दिन इजाफा देखने को मिल रहा है।  यहां कोरोना वायरस का कहर बढ़ रहा है। वहीं डॉक्टर्स लगातार कोरोना वायरस के मरीजों से दो-चार हो रहे हैं। इस बीच डॉक्टर्स को कई तरह की समस्याओं का सामना भी करना पड़ रहा है।

डॉक्टर्स को डर है कि अस्पताल के अन्य लोग भी इसकी चपेट में हो सकते हैं। ओडिशा में चिकित्सा अधीक्षक का 19 साल का बेटा कोविड-19 से संक्रमित होने वाला दूसरा मरीज है

खबर है कि  अंतिम संस्कार के लिए शव परिवार को नहीं दिए जा रहे है। बल्कि 14 दिनों बाद सिर्फ परिवार को राख दी जा रही है। लोगों का आरोप है  उन्हें शव को छूने और देखने तक नहीं दिया गया। ऐसे में एम्स के (AIIMS) डॉक्टर का कहना है कि कोरोना खांसने या छींकने से फैलता है न कि मृतक के शव से।

कोरोना वायरस के चलते अस्पतालों में मास्क और सेनेटाइजर उपलब्ध कराने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने सिफारिश की है। वहीं देश के सबसे बड़े अस्पताल अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) से एक हजार एन-95 मास्क गायब हो गए हैं।

लालू के इलाज में जुटे रिम्स के चिकित्सकों का कहना है कि वह किडनी सहित 15 गंभीर बीमारियों से ग्रस्त है। उन्हें बेहतर इलाज के लिए दिल्ली भेजा जाएगा।

दिल्ली के एम्स के न्यूरो कार्डियो बिल्डिंग में भीषण आग लग गई। दमकल की दस गाड़ियां आग बुझाने के काम में जुटी हुई है। बताया जा रहा है कि ये आग बढ़ती ही जा रही है।