ajit doval

यूरोपियन यूनियन(EU) के सांसदों का प्रतिनिधिमंडल जम्मू-कश्मीर दौरे के लिए मंगलवार को श्रीनगर पहुंचा। सांसदों का दल मंगलवार सुबह करीब 8 बजे दिल्ली से श्रीनगर के लिए रवाना हुआ था।

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद से पाकिस्तान तिलमिलाया हुआ है। भारत के खिलाफ आए दिन नई-नई साजिश रच रहा है। सुरक्षाबलों ने एक नया प्लान तैयार किया है जो पाकिस्तान साजिशों को नाकाम कर देगा।

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के जम्मू-कश्मीर दौरे पर तंज कसा है। महबूबा ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है कि पिछली बार मेन्यू में बिरयानी था, क्या इस बार हलीम होगा? 

कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद से आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद तिलमिलाया हुआ है। वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल पर आतंकी हमले की साजिश रच रहा है।

नई दिल्ली में गृह मंत्रालय में जम्मू-कश्मीर को लेकर बैठक चल रही है। इस बैठक की अध्यक्षता गृह मंत्री अमित शाह कर रहे हैं। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल, गृह सचिव राजीव गौबा और वरिष्ठ खुफिया अधिकारी बैठक में मौजूद हैं।

आर्टिकल 370 को लेकर कांग्रेस पार्टी ही दो गुटों में बट गयी है। जहां गुलाम नबी आजाद ने इसका विरोध किया है तो वहीं, पार्टी के कई नेता ऐसे भी हैं जो बीजेपी के पक्ष में हैं। इनमें ज्योतिरादित्य सिंधिया, दीपेंद्र हुड्डा, जनार्दन द्विवेदी जैसे आर्टिकल 370 हटाये जाने का समर्थन कर रहे हैं।

केंद्र की मोदी सरकार ने ऐतिहासिक और अभूतपूर्व फैसला लेते हुए जम्मू-कश्मीर को विशेष अधिकार देने वाले अनुच्छेद 370 को खत्म कर दिया है। जम्मू-कश्मीर अब केंद्र शासित प्रदेश बन गया है और लद्दाख को भी कश्मीर से अलग कर केंद्र शासित प्रदेश का दर्जा दिया गया है।

नई दिल्ली: राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल ने रविवार को काउंटर टेररिस्ट ग्रिड की अहम बैठक की। इस बैठक का मकसद जम्मू-कश्मीर पर मंडरा रहे आतंकी हमले का खतरा था। जानकारी के अनुसार, आतंकी हमले का इनपुट सुरक्षा एजेंसियों के पास मौजूद है। यह भी पढ़ें: World Hepatitis Day: ऑटोइम्यून हेपेटाइटिस से खुद को रखें …

शुक्रवार को गृह मंत्रालय की तरफ से बयान जारी कहा गया था जिसके मुताबिक कश्मीर घाटी में सीआरपीएफ की 50, बीएसएफ की 10, एसएसबी की 30, आईटीबीपी की 10 कंपनियां तैनात की जाएंगी।

कश्मीर घाटी में सीआरपीएफ की 50, बीएसएफ की 10, एसएसबी की 30, आईटीबीपी की 10 कंपनियां तैनात की जाएंगी। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल के कश्मीर दौरे से लौटते के बाद वहां 10 हजार अतिरिक्त सुरक्षा बल भेजने के फैसला लिया गया है। कुछ जवान वहां पहुंचाए भी जा चुके हैं।