Akhilesh Singh Yadav

समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने चाचा शिवपाल यादव के बीच लड़ाई अंतिम दौर पर पहुंच गई है। लोकसभा चुनाव के बाद अटकले लगाई जा रही थी कि चाचा भतीजे मिलकर 2022 का विधानसभा चुनाव लड़ेंगे लेकिन इस पर अब विराम लग गया है। समाजवादी पार्टी ने विधानसभा अध्यक्ष के यहां याचिका दायर कर शिवपाल सिंह की सदस्यता रद्द करने की मांग की है।

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज मोदी सरकार के साथ ही योगी सरकार के बारे में ऐसी बात कह दी जिसकी उम्मीद न थी। मोदी सरकार के स्वच्छ भारत अभियान का माखौल उड़ाते हुए कहा कि नालों और सीवर की गंदगी बहती रहती है। गंगा-गोमती-यमुना सब गंदे नालों से प्रदूषित हैं।

ऐसे में मुलायम सिंह ने तर्क दिया है कि शिवपाल यादव संगठन के आदमी हैं और पार्टी को दोबारा खड़ा करने में अहम रोल अदा कर सकते हैं। अब देखना होगा कि शिवपाल और अखिलश क्या सारे गिले शिकवे भुलाकर एक साथ आएंगे।

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी-लोहिया (प्रसपा) प्रमुख शिवपाल सिंह यादव ने सपा—बसपा गठबंधन को 'ठगबंधन' करार देते हुए रविवार को दावा किया कि यह गठजोड़ लोकसभा चुनाव में दहाई के अंक तक भी नहीं पहुंच पाएगा।

समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव और राष्ट्रीय अख्यध अखिलेश यादव के आय से अधिक संपत्ति के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को नोटिस जारी किया है। कोर्ट ने 2 हफ्ते में सीबीआई से जवाब मांगा है।

अखिलेश यादव ने बीजेपी पर आरोप लगाया कि वह झूठ फैलाने में माहिर है। उसकी आईटी सेल यानी इंटरनेट टेररिस्ट सेल झूठ फैलाने का काम करती है। उनके खिलाफ एक्शन लिया जाना चाहिए।

लोकसभा चुनावों के लिए बीजेपी के उम्मीदवारों की लिस्ट में संभावना है कि कई मौजूदा सासंदों का टिकट कट सकता है। इसे लेकर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने बीजेपी पर तंज कसा है।

अंसार रजा ने अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि मैं उनके बेटे शहजादे से जानना चाहता हूं कि क्या उनका भी आशीर्वाद मोदी जी के साथ है। अगर नहीं तो खंडन क्यों नहीं किया? उन्होंने कहा कि मायावती ने भी ईडी के छापों पर कोई बयान नहीं दिया?